WORLD TEACHER’S DAY: विश्व शिक्षक दिवस

World Teachers Day Hindi: भारत में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है जबकि अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस का आयोजन 5 अक्टूबर को होता है। इस लेख में अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस की जानकारी दी है कि अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है?, अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस कैसे मनाया जाता है और इसके इतिहास के बारे में।

भारत के अलावा तकरीबन सभी देशों में शिक्षक दिवस 5 अक्टूबर को मनाया जाता है। भारत में 5 अक्टूबर को शिक्षक दिवस नहीं मनाने का कारण यह है कि प्रथम उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती 5 सितंबर को होती है। उनकी याद में 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

चलिए जानते है अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस के बारे में…

5 October World Teacher’s Day – अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है

world teacher's day in hindi, History of World Teachers Day in Hindi, विश्व शिक्षक दिवस

दुनियाभर के अधिकतर देश 5 अक्टूबर को शिक्षक दिवस मनाते है इसलिए इसे अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस के रूप में जाना जाता है।

यह दिन यूनेस्को द्वारा पूरी दुनिया में शिक्षकों के लिए स्नेह (आभार) दिखाने के लिए बनाया गया। साथ ही यह वो दिन भी है जो teachers को सीधे affect करने वाले मुद्दों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देखता है क्योंकि कई देशों के अपना अलग राष्ट्रीय शिक्षक दिवस है।

इसके पीछे यूनेस्को को लगता है कि टीचर्स के उन राष्ट्रीय मुद्दों पर विचार करना आवश्यक है जो अंतर्राष्ट्रीय दृष्टिकोण से शिक्षकों को प्रभावित करते हैं क्योंकि इस दुनिया को global citizens की भी आवश्यकता है जो एक देश से दूसरे देश में विचारों को संबोधित और विनिमय कर पाएं।

विश्व शिक्षक दिवस का इतिहास – History of World Teachers Day in Hindi

अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस की बात तब शुरू हुयी जब 5 अक्टूबर 1966 को UNESCO और ILO (इंटरनेशनल लेबर ऑर्गनाइजेशन) ने संयुक्त रूप से “Recommendation concerning the Status of Higher Education Teaching Personnel” नामक एक सिफारिश पर हस्ताक्षर किए थे। यह सिफारिश शिक्षकों की शिक्षा के मानक, उनके उच्च अध्ययन, भर्ती प्रक्रिया, रोजगार, वेतन और उनके काम के लिए एक मानक चिह्न निर्धारित करती है।

इसके बाद 5 अक्टूबर 1994 को पहला विश्व शिक्षक दिवस आयोजित किया गया था। उस वर्ष से यह हर साल मनाया जाता है।

पहले शिक्षक दिवस के तीन साल बाद 12 अक्टूबर 1997 को यूनेस्को के 29th General Conference session आयोजित किया गया जिसमें “Recommendation concerning the Status of Higher Education Teaching Personnel” को स्वीकार कर लिया गया था।

सन 2002 में कनाडा ने विश्व शिक्षक दिवस मनाने के लिए एक डाक टिकट भी जारी किया था।

विश्व शिक्षक दिवस – WORLD TEACHER’S DAY THEME 2019

प्रत्येक साल हर शिक्षक दिवस को एक थीम को ध्यान में रखकर मनाया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय शिक्षक दिवस 2019 की थीम “Young Teachers: The Future of the Profession” है।

साल 2018 में शिक्षक दिवस थीम “The Right to Education means the Right to a Qualified Teacher” थी।

विश्व शिक्षक दिवस कैसे मनाया जाता है

विश्व शिक्षक दिवस यूनेस्को और Education International (EI) के दिशानिर्देशों के अनुसार मनाया जाता है।

यूनेस्को और EI दोनों सरकारों और अन्य संगठनों के सहयोग से दुनिया भर में विभिन्न अभियानों का आयोजन करते हैं ताकि छात्रों के साथ समाज में शिक्षकों के महत्व और उनकी उपयोगिता के बारे में जागरूकता फैलाई जा सके।

इसके अलावा जिस तरह भारत का शिक्षक दिवस मनाया जाता है, उसी तरह अपने शिक्षकों को सम्मान देते हुए यह दिन मनाएं। अगर आप स्टूडेंट है तो अपने शिक्षकों को उनका विद्यार्थी होने का गर्व अवश्य कराएं।

विश्व शिक्षक दिवस पर शायरी

जो बनाये हमें इंसान और दे सही गलत की पहचान।
देश के उन निर्माताओं को, हम करते हैं शत-शत प्रणाम।।

ज्ञान का दीपक गुरू जलाते, अँधियारा अज्ञान मिटाते।
विद्या रूपी धन देकर गुरू, प्रगति मार्ग पर हमें बढ़ाते।।

Teacher’s Day Slogans in Hindi

#1. देश का नया सवेरा होने को आया है, आज शिक्षक दिवस का दिन आया है।

#2. शिक्षक ना होते तो यह दिन कैसे आता, हर छात्र पढ़-लिखकर अच्छा इंसान बन जाता।

#3. जिस तरह माँ बिना परिवार अधूरा, उसी तरह गुरु बिना ज्ञान अधूरा।

#4. “It is the supreme art of the teacher to awaken joy in creative expression and knowledge.” – Albert Einstein

#5. “Teachers can change lives with just the right mix of chalk and challenges.” – Joyce Meyer

Happy World Teachers’ Day!


शिक्षक हर किसी के जीवन का महत्वपूर्ण आधार होता है। शिक्षक के बिना सफल और ज्ञानमय जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है क्योंकि गुरु के बिना ज्ञान संभव नहीं है और ज्ञान के बिना मनुष्य जीवन अधूरा है।

इस अंतराष्ट्रीय शिक्षक दिवस को अपने शिक्षकों जिन्होंने आपको बहुत कुछ दिया, अपनी तरफ से प्यार और स्नेह का तोहफा अवश्य दें और उनकी गरिमा को समझें।

यह भी पढ़ें:

अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Close Menu