WORLD ANIMAL DAY: विश्व पशु दिवस क्यों मनाया जाता है, कैसे मनाया जाता है, इतिहास

World Animal Day in Hindi: विश्व भर में हर साल 4 अक्टूबर को विश्व पशु दिवस मनाया जाता है। इस लेख में हमने बताया है कि विश्व पशु दिवस क्यों मनाया जाता है, विश्व पशु दिवस कैसे मनाया जाता है और विश्व पशु दिवस का इतिहास

जिस प्रकार इस धरती पर इंसान है, उसी प्रकार जानवर भी है। इन सबका धरती के eco system में अपना महत्व है। जैसा कि दुनिया में हज़ारों मनाये जाते है तो उनमें से एक यह विश्व पशु दिवस (WORLD ANIMAL DAY) है।

आइये जानते है विश्व पशु दिवस या विश्व पशु संरक्षण दिवस के बारे में…

World Animal Day in Hindi – अंतर्राष्ट्रीय पशु दिवस 2019

विश्व पशु दिवस 2019, 4 अक्टूबर शुक्रवार को मनाया जायेगा।

इस WORLD ANIMAL DAY के दिन अफ्रीका नेटवर्क फॉर एनिमल वेलफेयर 4 अक्टूबर को नैरोबी में एक जुलूस निकालेगा ताकि लोगों को जानवरों और उनके संरक्षण के बारे में जागरूक किया जा सके।

विश्व पशु दिवस का इतिहास – HISTORY OF WORLD ANIMAL DAY IN HINDI

ऐसा माना जाता है कि विश्व पशु दिवस को सबसे पहली बार एक जर्मन लेखक हेनरिक जिमर्मन ने मनाया था। इसे 24 मार्च 1925 को बर्लिन में मनाया गया था। इस अवसर पर लगभग 5000 लोग जमा हुए थे।

इसके बाद इसे 24 मार्च की बजाय 4 अक्टूबर को मनाया जाने लगा क्योंकि इसे मनाने का शुरुआती विचार 4 अक्टूबर ही था।

1931 में अंतर्राष्ट्रीय पशु संरक्षण सम्मेलन की फ्लोरेंस, इटली में आयोजित एक बैठक में 4 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय पशु दिवस के रूप में मनाने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया। इसके बाद विश्व पशु दिवस ने पूरी दुनिया का ध्यान खींचा और आज यह दुनिया भर के विभिन्न देशों में मनाया जाता है।

विश्व पशु दिवस क्यों मनाया जाता है – Why World Animal Day is Celebrated in Hindi

विश्व पशु दिवस को दुनिया में जानवरों के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए मनाया जाता है।

इसे मनाने के निम्न मकसद है:

  • पशुओं के प्रति क्रूरता को कम करें
  • जानवरों के प्राकृतिक ठिकानों को नष्ट न करें
  • पशुओं की भावनाओं का सम्मान करें
  • पशुओं की स्थिति बेहतर करने के लिए
  • इनमें भी मनुष्य की तरह जीव है, अत: यह भी सम्मान का हक़ रखते है।
  • पशु संरक्षण को बढ़ावा देना
  • लुप्त प्राय प्रजातियों को बचाना
  • वाइल्ड लाइफ को नियंत्रित करना।

विश्व पशु दिवस कैसे मनाया जाता है

इसे दुनियाभर में अलग अलग तरीके से मनाया जाता है हालाँकि हर जगह एक चीज़ कॉमन है: पशुओं को संरक्षण देना।

इस दिन अलग अलग जगहों पर यह एक्टिविटीज की जाती है:

  • पशुओं के प्रति शिक्षा और जागरूकता अभियान
  • लुप्तप्राय जानवरों को बचाने और संरक्षण के लिए फण्ड इकट्ठा करने के अभियान
  • पशु के रहने के लिए स्थान की जानकारी और नए पशु आश्रय स्थलों का उद्घाटन
  • पशुओं की स्वास्थ्य जाँच
  • पशुओं की बीमारयों के प्रति जागरूकता फैलाना
  • और बहुत सारे।

शुरू शुरू में काफी सीमित रहा यह दिवस आज दुनिया के अधिकतर देशों में पहुँच चुका है और लोगों में पशुओं के प्रति क्रूरता, जानवरों के नैतिक अधिकारों, संवेदनशील प्राणियों के रूप में पशुओं की मान्यता जैसे मुद्दों पर जागरूकता पैदा करने में काफी हद तक सफल रहा है।

पशुओं के संरक्षण के लिए विश्वभर में कई संस्थाएं भी काम करती है जो न सिर्फ एक दिन बल्कि पुरे साल इस काम में लगी रहती है।

यह भी पढ़ें:

अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो इसे शेयर अवश्य करें।

This Post Has One Comment

  1. Animals have their own life, so हमें उनका संरक्षण करना चाहिए।

Leave a Reply

Close Menu