फेसबुक क्या है और इसे किसने बनाया – What is Facebook in Hindi

आज सोशल मीडिया का युग है और सोशल मीडिया के इस दौर में शायद ही कोई ऐसा है जिसने फेसबुक का नाम न सुना हो! अगर आपको भी फेसबुक क्या है, फेसबुक का इतिहास क्या है के बारे में कम जानकारी है तो आपको इस आर्टिकल में फेसबुक की जानकारी हिंदी में मिल जाएगी। what is facebook in hindi

Facebook kya hai, what is facebook in hindi

जो लोग स्मार्टफोन का उपयोग करते हैं, उनमें से अधिकतर फेसबुक यूजर्स है। इसके अलावा फेसबुक फीचर फोन (कीपैड मोबाइल) में भी चलाया जा सकता है जिसके कारण फेसबुक के यूजर्स की संख्या दुनिया भर में बहुत ज्यादा है।

वैसे तो facebook kya hai इस बारे में ज्यादा परिचय की आवश्यकता नहीं है। फिर भी कई नए लोग हैं जिन्हें इस सोशल प्लेटफॉर्म के बारे में कम जानकारी है या फेसबुक उनके लिए बिल्कुल नया है तो उन्हें फेसबुक और फेसबुक के फीचर्स इत्यादि को जानना होता है। इस लेख में इसकी पूरी जानकारी दी गई।

अगर देखा जाए तो लोगों में फेसबुक का क्रेज इतना है कि 14-15 साल के बच्चे से लेकर बड़े बुजुर्गों तक के फेसबुक पर अकाउंट होते हैं और फेसबुक चलाते हैं।

अगर किसी व्यक्ति से इंटरनेट के बारे में पूछा जाए तो उसकी जुबान पर फेसबुक और गूगल सबसे पहले आने वाले नाम होंगे। फेसबुक सभी के लिए फ्री है और यह दुनिया के लगभग सभी देशों में उपलब्ध है और कोई भी इसका उपयोग कर सकता है।

चलिए जानते हैं फेसबुक क्या है और इससे जुड़ी सभी जानकारियों के बारे में…

फेसबुक क्या है – What is Facebook in Hindi

फेसबुक एक बहुत ही लोकप्रिय सोशल मीडिया साइट है जिसके माध्यम से कोई भी अपने मित्रों, परिवार और परिचितों के साथ ऑनलाइन जुड़ सकता है यानि संपर्क में रह सकता है।

फेसबुक पर कोई भी व्यक्ति अकाउंट बनाकर अपने फोटो, वीडियो को लोगों के साथ शेयर कर सकता है। फेसबुक के ही एक फीचर फेसबुक मैसेंजर के द्वारा अपने फ्रेंड्स के साथ ऑनलाइन चैटिंग यानि बातें कर सकता है।

फेसबुक का प्रयोग करना बिल्कुल फ्री है और कोई भी व्यक्ति जिसकी उम्र 13 साल से अधिक है, फेसबुक का उपयोग कर सकता है, फेसबुक चला सकता है। यह दुनिया भर की 110 भाषाओं में उपलब्ध है जिससे यह समझा जा सकता है कि इस सोशल नेटवर्किंग साइट की लोकप्रियता कितनी है!

फेसबुक मूल रूप से एक अमेरिकन वेबसाइट है और इसे 4 फरवरी 2004 को लांच किया गया था। शुरुआत में इसका नाम The Facebook था लेकिन बाद में इसे बदलकर Facebook कर दिया गया।

कोई भी व्यक्ति जिसके पास इंटरनेट है, अपनी फेसबुक प्रोफाइल बनाकर इस सोशल साइट का उपयोग कर सकता है।

फेसबुक के फीचर्स – Facebook Features in Hindi

1. Facebook Account/Profile

इसी हम फीचर ना कहें तो ही बेहतर है क्योंकि फेसबुक का उपयोग करने के लिए फेसबुक का अकाउंट बनाना जरूरी है। आपके फेसबुक अकाउंट को ही फेसबुक प्रोफाइल कहते है। यह आपका नाम होता है। इसके द्वारा कोई भी आपको फेसबुक पर देख सकता है, आपका मित्र बन सकता है। मित्र बनने के लिए किसी भी व्यक्ति को सामने वाले को एक फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजनी होती है। अगर वो रिक्वेस्ट स्वीकार कर लेता है तो दोनों फेसबुक पर मित्र बन जायेंगे।

कोई भी व्यक्ति आसानी से अपने मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी की सहायता से फेसबुक अकाउंट बना सकता है।

2. फेसबुक मैसेंजर

यह फेसबुक का मैसेजिंग ऐप है। इसमें आप अपने किसी फेसबुक दोस्त के साथ फोटोज, वीडियोस या बातों को व्यक्तिगत तौर पर शेयर कर सकते हैं।

अगर आप स्मार्टफोन में फेसबुक एप का प्रयोग कर फेसबुक चलाते हैं तो फेसबुक मैसेंजर का उपयोग करने के लिए मैसेंजर एप को अलग से डाउनलोड करना होगा। यह मैसेंजर ऐप फेसबुक खाते से कनेक्ट होती है। इसके लिए कोई अलग अकाउंट नहीं बनाना पड़ता है। अगर आप ब्राउज़र में या कंप्यूटर लैपटॉप में facebook.com वेबसाइट फेसबुक को चलाते हैं तो मैसेंजर को सीधे वेबसाइट से एक्सेस कर सकते हैं, अलग से कुछ किये बिना।

3. Facebook Page

अगर आप कोई बिजनेस करते हैं या कोई छोटे-मोटे कंपनी चलाते हैं तो फेसबुक पेज आपको लोगों से जोड़ने में हेल्प कर सकता है.

फेसबुक प्रोफाइल पर अधिकतम 5,000 friends बना सकते है जबकि Page में जितने चाहें, उतने लोगों को add कर सकते है।

4. Facebook Group

यह फेसबुक पेज की तरह है लेकिन उससे काफी अलग है क्योंकि इसमें जितने भी सदस्य जुड़े हुए होंगे, वो पोस्ट कर सकेंगे जबकि फेसबुक पेज में ऐसा नहीं है।

फेसबुक ग्रुप्स पब्लिक या प्राइवेट होते हैं। पब्लिक ग्रुप को कोई भी फेसबुक यूजर ज्वाइन कर सकते हैं वहीं प्राइवेट ग्रुप में केवल इनवाइट के द्वारा जुड़ा जा सकता है।

5. Other Features

फेसबुक के मुख्य फीचर्स का नाम:- News Feed, Events, Marketplace, Places, Live Streaming, Mentions, Reactions, comment and share & a lot

देखा जाए तो फेसबुक के इतने फीचर है कि उनके बारे में एक-एक करके लिखा जाए तो यह लेख बहुत लम्बा हो जायेगा। अत: उनके बारे में जानने के लिए आपको फेसबुक का उपयोग करना होगा।

Advantages of Facebook in Hindi – फेसबुक के फायदे

दुनिया डिजिटल हो गई है और हर कोई फेसबुक चलाता है तो इसके बहुत सारे फायदे है जिनके बारे में आपको जानना जरूरी है।

यह रहे फेसबुक को उपयोग करने के फायदे लाभ (benefits of facebook in hindi):

  • Facebook दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया साइट है। इसके उपयोग से आप अपनी सोशल नेटवर्किंग को बढ़ा सकते है।
  • इसके द्वारा आप अपनी फॅमिली, फ्रेंड्स, साथ काम करने वालों से जुड़ सकते है, यहाँ तक कि नए लोगों से भी। दुनिया के किसी भी कोने का व्यक्ति अगर फेसबुक चलाता है तो आप उससे जुड़ सकते है, ऑनलाइन दोस्त बन सकते है, उससे चैटिंग कर सकते है।
  • अपनी फोटोज और videos को ऑनलाइन लोगों के साथ शेयर करने के लिए।
  • अगर आप चाहें तो अपने फोटोज और वीडियो को फेसबुक पर स्टोर कर सकते है। आप अपनी बहुत सारी फोटो वीडियो फेसबुक पर अपलोड करके अकाउंट प्राइवेसी बदलकर ऐसा किया जा सकता है।
  • अगर आपका कोई बिज़नेस है तो फेसबुक आपके लिए लोगों से जुड़ने का एक बहुत बड़ा स्थान है। इससे आप अपनी सेल्स को बढ़ा सकते है।
  • फेसबुक एड्स के द्वारा आप अपने ब्रांड, प्रोडक्ट या कंपनी की पहुँच दुनिया के किसी भी कोने तक पहुंचा सकते है।
  • फेसबुक पर हज़ारों तरह के ग्रुप्स और पेज है। उनसे जुड़कर आप हर प्रकार की जानकारी पा सकते है।
  • फेसबुक मनोरंजन के लिए भी एक बड़ा स्रोत है। कोई भी एफबी यूजर कई प्रकार के फनी वीडियोस, क्लिप्स को देख सकता है।
  • फेसबुक से पैसे भी कमाए जा सकते है। इसके लिए फेसबुक पेज बनाकर उस पर ओरिजिनल कंटेंट डालना होता है।
  • टाइमपास के लिए। हां सही पढ़ा आपने, अगर आप बोर हो रहे है तो फेसबुक आपके लिए टाइमपास करने का भी एक ऑप्शन हो सकता है।
  • फेसबुक मैसेंजर से आप दोस्तों के साथ वॉइस कॉल, वीडियो कॉल भी कर सकते है।

Disadvantages of Facebook in Hindi – फेसबुक उपयोग करने के नुकसान

हर किसी फायदे के साथ साथ नुकसान भी होता है। फेसबुक के भी बहुत सारे फायदे होने के साथ साथ कुछ नुकसान भी है।

  • प्राइवेसी का। यह फेसबुक का यूज़ करने का सबसे बड़ा नुकसान है क्योंकि फेसबुक के पास आपकी हर एक्टिविटी का पता होता है कि आप क्या करते है, कहाँ जाते है, फ़ोन में क्या सर्च करते है, आपको कौनसी चीजें पसंद नापसंद है! हालाँकि सेटिंग में प्राइवेसी सेटिंग्स को बदला जा सकता है।
  • फेक न्यूज़ का। जैसा कि फेसबुक सबसे बड़ी सोशल मीडिया साइट है तो कई लोग इसको फेक न्यूज़ फ़ैलाने के लिए उपयोग करते है। इससे आपको किसी के बारे में गलत इनफार्मेशन मिल सकती है।
  • कई बार फेक न्यूज़ फ़ैलाने, धर्म से जुडी पोस्ट्स के कारण दंगे फसाद तक हो जाते है.
  • यह भी देखा गया है कि फेसबुक साम्प्रदायिक भावनाओं को भी कई बार भड़काता है क्योंकि इस प्लेटफार्म पर बहुत सारे ऐसे ग्रुप और पेज है जिनके लाखों में सदस्य है। इससे अगर कोई पोस्ट इन ग्रुप्स में की जाती है तो वो बहुत सारे लोगों तक पहुँचती है।
  • कैंब्रिज एनालिटा जैसे कई आरोप फेसबुक पर लगे है जिसमें फेसबुक वालों ने अपने यूज़र्स के डेटा को करोड़ों में दूसरी कंपनियों को बेचा।
  • फेसबुक की लत लग जाना भी फेसबुक का एक बुरा पहलू है। कई किशोर और युवा इससे ग्रसित है, उन्हें फेसबुक के बिना एक दिन भी गुजारना एक हफ्ते के बराबर लगता है।
  • फेसबुक का ज्यादा उपयोग करने से अमूल्य टाइम waste होता है, समय का महत्व तो आप जानते ही होंगे।

History of Facebook in Hindi – फेसबुक का इतिहास

सन् 2003 में अपनी कॉलेज के सेकंड ईयर में मार्क जकरबर्ग ने एक वेबसाइट बनाई जिसका नाम था Facemash. इस साइट में उन्होंने कॉलेज स्टूडेंट की इमेजेस को यूज यूज को यूज यूज किया था ताकि अपनी साइट को पॉपुलर बना सकें को पॉपुलर बना सकें. एक प्रकार से यह साइट हावर्ड स्टूडेंट्स के लिए स्टूडेंट डायरेक्टरी थी.

इस साइट में जकरबर्ग ने जो इमेजेस यूज की थी, उन्हें अपनी कंप्यूटर साइंस स्किल्स के जरिए हावर्ड के सिक्योरिटी सिस्टम को हैक करके कॉपी किया था। इसके चलते उनकी साइट लांच लांच होने के कुछ दिन बाद ही बंद हो गई। इसके बाद जकरबर्ग को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

अपने इस साइट के बंद होने के बाद जकरबर्ग ने 4 फरवरी 2004 को एक नई वेबसाइट लांच की जिसका नाम रखा TheFacebook. इसे बनाने में उनके सहयोगी Dustin Moskovitz, Eduardo Saverin और Chris Hughes भी थे।

शुरुआत में यह साइट सिर्फ हावर्ड्स के स्टूडेंट स्टूडेंट के लिए थी लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर कई अन्य कॉलेजों में किया गया। दिसंबर 2004 तक फेसबुक के यूजर्स की संख्या 1 मिलियन तक पहुंच गई थी।

2006 में इसे सभी के लिए लांच किया गया और इसका मोबाइल वर्जन लाया गया। इस प्रकार फेसबुक की हर साल लोकप्रियता बढ़ती गई, इसके यूजर्स बढ़ते गए और धीरे-धीरे इसे दुनिया के विभिन्न देशों में लॉन्च किया जाने लगा।

अत: हावर्ड कॉलेज के स्टूडेंट को एक-दूसरे से जोड़ने के लिए बनाई गई साइट फेसबुक कम समय में बहुत ही ज्यादा पॉपुलर हो गई और आज इसकी popularity तथा इसके यूजर्स हमारी आंखों के सामने हैं। इससे लगभग हर कोई परिचित है, भले ही वो पढ़ा लिखा हुआ है या नहीं।

इस प्रकार फेसबुक एक बहुत ही लोकप्रिय सोशल नेटवर्किंग साइट बन गई है और इस पर प्रति महीने करोड़ों में एक्टिव यूजर रहते है।

फेसबुक की जानकारी हिंदी में

फेसबुक को किसने बनाया

अगर आप फेसबुक चलाने वाले यूजर्स से पूछोगे कि फेसबुक को किसने बनाया है यानि फेसबुक का आविष्कार किसने किया है तो उनमें से अधिकतर लोगों को इस बारे में जानकारी नहीं है.

फेसबुक को मार्क जुकरबर्ग (mark zuckerberg) ने बनाया है जिसमें उनके हावर्ड कॉलेज के सहयोगी दोस्त Dustin Moskovitz, Eduardo Saverin, Andrew McCollum और Chris Hughes थे।

फेसबुक का हेडक्वार्टर कहाँ है

फेसबुक का हेडक्वार्टर (मुख्यालय) कैलिफोर्निया, USA में है।

इसके अलावा फेसबुक के लगभग हर देश में ऑफिस है जहाँ से यह फेसबुक एक्टिविटीज को ऑपरेट करते है। भारत में फेसबुक के पांच ऑफिस है। यह निम्न जगहों पर है: Hyderabad, Delhi, Gurgaon, Mumbai और Bangalore.

फेसबुक पैसे कैसे कमाता है

फेसबुक के पैसे कमाने का मुख्य स्रोत एडवरटाइजिंग है।

अगर आप फेसबुक यूजर है तो आपने अपनी फेसबुक वॉल में विभिन्न प्रकार के advertisement देखे है। यह ads किसी भी कंपनी के हो सकते है क्योंकि कंपनियां अपने प्रोडक्ट्स का प्रचार करने, कटेंट प्रमोशन के लिए फेसबुक पर एड्स चलाती है।

अगर आप सामान्य यूजर है तो भी आप अपने बिज़नेस के लिए फेसबुक पर एडवरटाइजिंग कर सकते है। इसके लिए आपको एक फेसबुक पेज बनाना होगा। फिर उस पर आप कोई भी एड्स क्रिएट कर उसे दुनिया में कहीं भी दिखा सकते है।

फेसबुक कितनी बड़ी कम्पनी है

अगर यूजर्स के हिसाब से देखा जाये तो फेसबुक सबसे ज्यादा उपयोग की जाने वाली सोशल मीडिया साइट है।

इसके अलावा फेसबुक ने व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम को भी खरीदा हुआ है जिससे आप अंदाजा लगा सकते है कि यह कितनी बड़ी कंपनी है।


आखिरी शब्द

फेसबुक एक सोशल मीडिया साइट है जिस पर हम अपना अकाउंट बनाकर एक दूसरे से ऑनलाइन जुड़ सकते है।

फेसबुक पर हम किसी भी देश के व्यक्ति को फ्रेंड बना सकते है, उससे बातें कर सकते है और उसकी फोटोज वीडियोस देख सकते है, पसंद कर सकते है। हम अपने बिज़नेस को भी फेसबुक पर प्रमोट कर सकते है।

इस प्रकार आपने जाना फेसबुक क्या है और इसके इतिहास के बारे में। अगर आपको लेख पसंद आया है तो इसे आप अपने whatsapp, twitter पर शेयर कर सकते है।

👇 नीचे दिए buttons पर क्लिक कर Post को शेयर करें:

Add a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.