ऐसे पढ़ोगे तो फिर कभी नहीं आयेगी पढ़ते समय नींद

अनेक विद्यार्थियों की यह शिकायत होती है कि नींद सोने के टाइम आए या न आए लेकिन पढ़ते समय यह जरूर आती है यानि विद्यार्थियों के लिए पढ़ाई करते समय नींद आना एक बहुत बड़ी समस्या है। इस लेख में हमने बताया है कि पढ़ाई के दौरान नींद से कैसे बचें, How to avoid sleep while studying in hindi?

विद्यार्थी अपने प्रदर्शन को सुधारने तथा रिजल्ट improve करने के लिए पढ़ना चाहते हैं लेकिन वो नींद आने के कारण पढ़ नहीं पाते हैं। नींद पढ़ाई में बाधा बन सकती है, इसके पीछे बहुत से कारण है। हमें सबसे पहले उन कारणों को जान दिनचर्या में बदलाव करना होगा।

आइये जानते है कुछ ऐसे टिप्स के बारे में जो पढ़ते समय नींद से बचाने में सहायक साबित होंगे। Tips to control sleep while studying in hindi

पढ़ाई के दौरान नींद को कैसे दूर भगायें – How to Study without Sleeping in Hindi

how to avoid sleep while studying in hindi, पढ़ते समय नींद से कैसे बचें

1. पढ़ने की जगह बदलें

Study place को change करने से तात्पर्य यह है कि अगर आप bed पर बैठ कर पढ़ाई करते है तो इससे आपको पढ़ाई के दौरान नींद आने की संभावना बढ़ेगी क्योंकि जब हम बेड पर बैठ कर पढ़ाई करते हैं तो हमें जब भी थोड़ी बहुत सुस्ती महसूस होने लगती है तो हम अपनी sitting position चेंज करके आरामदायक पोजिशन में बैठ जाते हैं या थोड़ा बहुत यूं सोने की स्थिति में लेटकर पढ़ने लगते है और धीरे-धीरे हमें नींद आने लगती है।

अत: मेरी सलाह आपको यह रहेगी कि आप टेबल-कुर्सी पर बैठकर अध्ययन करें। जब आप टेबल-कुर्सी का उपयोग करके पढ़ते है तो आपको आसानी से नींद नहीं आती है क्योंकि इसके पीछे बड़ा कारण यह है कि हम कुर्सी पर एक निश्चित स्थिति में बैठ कर लगातार अध्ययन करते है।

इसके अलावा अगर आप किसी एक रूम में बहुत लंबे समय से पढ़ रहे है तो यह भी एक फैक्ट हो सकता है कि आपको जल्द नींद आए। आप चाहे तो अपने स्टडी रूम को चेंज कर सकते है।

एक नये स्टडी रूम मेंं शिफ्ट होने से दिमाग को एक नया वातावरण मिलता है तथा दिमाग चीजों को प्रोडक्टिव ढंग से capture करता है।

2. Write and Speak while Study

लिखकर व बोलकर पढ़ना आपकी पढ़ाई में चार चांद लगा सकता है। यह आपकी याददाश्त को भी इंप्रूव करता है। जब हम बोलकर पढ़ते है तो हमारा दिमाग जो visually चीजों को catch कर रहा है, Verbally भी चीजों को कैच करने लगता है। इस तकनीक को आप नींद से बचने की एक निंजा टेक्निक कह सकते हो जो 100% प्रभावी है।

जोर से बोल कर पढ़ने से हमारा दिमाग एक्टिव रहता है यानि कि बोलकर पढ़ने से हमारे दिमाग को भी संकेत जाता रहता है कि हम कुछ कर रहे है। ऐसा करने से हमारा दिमाग sleepy harmons को जल्दी रिलीज नहीं करता है और हम ज्यादा देर तक पढ़ पाएंगे।

अगर आप किसी ऐसी जगह पढ़ाई कर रहे है जहां आप जोर से नहीं बोल सकते जैसे कि लाइब्रेरी… तो आप धीरे-धीरे गुनगुनाते हुए पढ़ने की कोशिश करें जिससे आपका दिमाग एक्टिव रह सके और आप नींद से बच सकें।

अगर आप किसी चीज को जोर से पढ़ कर या गुनगुनाते हुए पढ़कर याद करते है तथा फिर उसको बोलते हुए लिखते है तो वो memory में आसानी से सेट हो जाती है और आप उसे जल्दी नहीं भूलते है। यह एक नींद से बचने के उपाय के साथ-साथ याददाश्त को भी बढ़ाने का एक उपाय है।

3. Don’t take Heavy Meal

एक पुरानी कहावत है ‘हल्का-फुल्का खाओगे तो सदा गुनगुनाओगे’। यह बात सही भी है।

जब भी हम ज्यादा खाना खा लेते है तो हमारे पाचन तंत्र को उसे पचाने में ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है और हमारे दिमाग में Blood circulation थोड़ा कम हो जाता है जिससे हम सुस्ती महसूस करने लगते है और हमें नींद आने लगती है इसलिए हमेशा कम क्वांटिटी में अच्छा खाना खाए जिससे नींद आपको परेशान ना करें।

आप एक साथ बहुत ज्यादा खाना खाने की बजाय दिन में कई बार छोटे-छोटे भाग में खाना खायें तो बेहतर रहता है।

4. Study in Proper Lighting

बहुत ज्यादा या बहुत कम रोशनी में पढ़ाई करने से हमारी आंखों पर जोर पड़ता है और उन में दर्द होने लगता है जिससे हमें नींद आने लगती है इसलिए स्टडी हमेशा ऐसी जगह पर करें जहाँ proper light हो।

5. Take Intervels

हम सबका concentration power अलग-अलग होता है। हम में से कई लोग 3 घंटे तक बिना थके तक पढ़ सकते है तो कई लोग 1 घंटे तक ही पढ़ जाते है।

इसलिए आप यह जानिए कि कितनी देर तक आप बिना थके पढ़ सकते है जैसे कि मान लीजिए आप 1 घंटे तक बिना थके पढ़ सकते है तो एक घंटे के बाद आप 10 से 15 मिनट का शॉट ब्रेक लें और उसमें अपनी पसंद का कोई भी काम करें जैसे कि म्यूजिक सुनना, walking etc.।

इससे आपको अपनी पढ़ाई पर concentration बढ़ाने में मदद मिलती है और आप ज्यादा देर तक इफेक्टिव पढ़ाई कर पाते है।

छोटे-छोटे ब्रेक लेकर पढ़ने से आपका स्टडी टाइम इंप्रूव होता है और आप ज्यादा देर तक पढ़ पाते है। अगर हम बिना ब्रेक लिए लंबे समय तक पढ़ते हैं तो हम थकान की वजह से सुस्ती महसूस करने लगते हैं और हमें नींद आने लग जाती है। अतः पढ़ाई करते समय बीच में छोटे-छोटे ब्रेक लेते रहें।

अगर आप बहुत ज्यादा थके हुए हो या आपको लग रहा है कि आपको बहुत ज्यादा नींद आ रही है तो आप एक छोटी सी नींद की झपकी ले सकते है जिसे पावर नैप (Power Nap) कहते है। इससे भी आपका Concentration पावर बढ़ेगा।

साथ ही इस बात का ध्यान रखें कि आप हमेशा एक proper नींद ले रहे है।

6. पर्याप्त पानी पीतें रहें

जब हम कम पानी पीते हैं तो हमें डिहाइड्रेशन होता है जिससे हम सुस्ती फील करने लगते है। यह भी नींद आने का एक कारण हो सकता है। अतः पढ़ते समय व दिन में नियमित अंतराल पर पानी पीते रहे जिससे आपको डिहाइड्रेशन न हो।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि पानी हमारे एनर्जी लेवल को रिफ्रेश करने में बहुत सहायक होता है। इसलिए जब भी पढ़ने बैठे तो पास में पानी की बोतल या गिलास अवश्य रखें जिससे आप पढ़ते समय बीच-बीच में पानी पीते रहेंगे।

7. Group Study

अगर आपको लगता है कि आप ऊपर दिए गए ट्रिक्स को फॉलो करने के बावजूद आपको पढ़ते समय नींद आती है तो ‘ग्रुप स्टडी’ सबसे बेहतर तरीका है पढ़ाई करते समय नींद से बचने का।

ग्रुप स्टडी में पढ़ते समय आप एक-दूसरे से हल्की फुल्की बातचीत करते रहते हैं जो नींद नहीं आने देती है।

Also Read:

अगर आप ऊपर दिए गए टिप्स का अनुसरण करते है तो यह बात सौ फ़ीसदी सच है कि पढाई करते समय नींद आना आपकी समस्या नहीं रहेगी। इन टिप्स के द्वारा आप अपनी स्टडी को अच्छे तरीके से कर पाएंगे और पढ़ते समय नींद महसूस नहीं करेंगे जो आपकी concentration power बढ़ाने में सहायक साबित होंगे जिससे आप इफेक्टिव स्टडी कर पाएंगे।

I hope you like this post How to avoid sleep while studying in hindi, Please comment down below and tell us about this.

👇 नीचे दिए buttons पर क्लिक कर Post को शेयर करें:

Add a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.