Best Happy New Year Poem in Hindi 2023 – नए साल पर कविता

काव्य प्रेमी पाठकों और स्टूडेंट्स को नए साल पर कविताएं पसंद आती है तो हमने यहाँ new year poem in hindi का कलेक्शन शेयर किया है जो हर किसी को बहुत अच्छा लगेगा। हमने इन कविताओं में नव वर्ष की खूबसूरती और खुशबु को शब्दों में उकेरा है।

साल के अंतिम महीने दिसम्बर की समाप्ति के साथ ही जनवरी महिना लग जाता है और इस महीने का पहला दिन 1 जनवरी नए साल की शुरूआत का दिन होता है। नवीन वर्ष हर किसी के लिए नई शुरुआत का मौका होता है तो students यहाँ दी गई नए साल 2023 की कविता से प्रेरणा ले सकते है।

नववर्ष का स्वागत करने के लिए लोग हैप्पी न्यू ईयर कविता का पाठ करते है या नवीन वर्ष कविता को उपहारों और बधाई संदेशों से अपने दोस्तों रिश्तेदारों को भेजते है।

नए साल पर कविता 2023

नए साल पर कविता 2022

नए साल के नए अवसर पर
अपने मन से सारे भेदभाव मिटाएं,
रिश्तों में मिठास लाकर
थोड़े नए रिश्ते बनाएं,
दिल की कठोरता को दूर कर
कोमलता की चादर ओढाएं,
मन को चांद की भांति सुंदर बनाकर
हर जीव के प्रति दया भाव जगाएं।

नव वर्ष का नया अवसर है
मन की उदासियों को दूर कर
खुशियों के फूल खिलाएं,
असफलताओं को छोड़ पीछे
नए लक्ष्यों को अपने मन में जगाएं,
बीत गया जो बुरा वक्त
उसे भूल कर नहीं सपनों को सजाएं,
दुआ करता हूं भगवान से
इस नए साल पर आप अपने
हर लक्ष्य को पूरा कर पाएं।

यह भी पढ़ें: नए साल 2023 की शानदार शायरियाँ

नया साल है तो
नई चीजों को करना मत भूलना,
एक बार मिलती है जिंदगी
जिंदगी को जी भर के जीना,
आती है विपदाएं तो शिव की
भांति उन्हें विष बनाकर पीना,
कदम-कदम पर
नए एहसास करायेगी यह जिंदगी
पर तुम अपनी जिंदगी को
अपने तरीकों से जीना,
रिश्तो के समुंदर में कुछ डाकू भी होंगे
पर तुम उनसे प्रेम से बतलाना,
यह जिंदगी का प्यारा सफर है
इसे हंस मुस्कुराकर काटना,
नए साल का नया जोश है तो
अपनी खुशियों को हर किसी के साथ बांटना।
हैप्पी न्यू ईयर 2023

Happy New Year Poem in Hindi

असफलता की चुनौती को स्वीकार करो,
नींद चैन को त्याग कर खुद को
आगे बढ़ने के लिए तैयार करो,
आती है कोई मुश्किल तो
अपनी कड़ी मेहनत से वार करो,
संघर्ष का मैदान मत छोड़ो तुम
नये वर्ष में नई जय-जयकार करो।
कोशिशों की गाड़ी से कभी ना उतरो
सदा बने रहो अपनी मंजिल के मुसाफिर,
आपकी लगन और परिश्रम के आगे
हर मुश्किल हार जाएगी,
मेहनत को बनाओ अपना ब्रह्मास्त्र
हर सफलता आपकी झोली में आ जाएगी।
नए साल 2023 की मुबारक हो!

happy new year poem in hindi

जीवन निर्माण को ऊंचाई पर पहुंचाना है
तो लक्ष्य पाने की जलानी होगी सिंगारी,
रात अंधेरी हो या काली,
अपने मेहनत रूपी तप से बनाओ उसे प्यारी,
नन्ही चींटी की मेहनत को अपना आदर्श बनाओ
एक दिन पूजेगा आपको हर नर नारी,
नए साल के नए उत्साह में
एक बात हमेशा रखना याद
जीवन के किसी भी सफर में
मेहनत से नहीं तोडूंगा यारी।
नया साल 2023 मुबारक हो!!!

Funny Poem on New Year 2023 in Hindi

अपनी पुरानी गर्लफ्रेंड को छोड़कर
कोई नई रानी बनाओ, 😎
नए साल का नया दिन है
तो कोई नया हमसफर पाओ, 😍
शक्ल भले ही खराब है पर
खुद को कामदेव से कम मत दिखाओ, 😋
लूटपाट के एक ऐसी हसीना लाओ लाओ, 🤓
जिसकी चमकते दांतों से
अमावस की रात को भी पूनम बनाओ,
बाकी नए साल में नया जीवन बनाना है
तो सिर को खुजलाना छोड़कर
मेहनत करने बैठ जाओ। 😂🤣

Naya Saal 2023 Short Poem Kavita

भागदौड़ की जिंदगी में कुछ नहीं रखा
मजे करना सीख जाओ,
या तो कर लो अपनी नाव पार
या फिर तैरना सीख जाओ,
कब तक दूसरों की सफलता
देखकर खुद को जलाओगे
कल ना किया तो सही पर
आज से जीवन को नए मोड़ में लाओ,
चेहरे पर मुस्कान को अपना आभूषण बनाओ,
नए साल में जीवन को नया रंग दिखाओ।

नववर्ष स्वागत कविता

खुद में भरो नया जोश
बढ़ाओ अपना उत्साह और ताकत,
आ गया है 2023 का नया साल
करो सब मिलकर नए साल का स्वागत।

नए साल का नया वक्त है
खुद को बनाओ नया,
रिश्तों में मिठास लाओ
मत भूलो कृपाभाव और दया।

व्यर्थ में समय नहीं गंवाओगे
ऐसा लो नये साल पर प्रण,
मेहनत से किस्मत बदलो खुद की
बदल जाएगा जीवन रण।

मन में बीज बोओ प्रगति के
संघर्ष से लाओ हरियाली,
स्वागत करते हैं नए वर्ष का
यह साल सबकी जिंदगी बनाए निराली।

मुश्किलों के तूफाने में मत झुकाना
अपने जीवन की नाव,
नए साल में मेहनत के नए पौधे लगा
जीत जाएगा जिंदगी का चुनाव।

ये भी पढ़ेंदोस्तों के लिए नए साल की शुभकामनाएं

कर्तव्य निष्ठा और पूर्ण इच्छाशक्ति से
जीवन के सत्मार्गों पर चलते हैं,
आओ हम सब मिलकर
नए साल 2023 का स्वागत करते हैं।

नववर्ष पर कविता

कड़ी मेहनत और लगन से
पूरा करो अपना हर काम,
सफलता के पथ पर
आपका भी होगा नाम।
नए वर्ष का नव अवसर है
लक्ष्य की तरफ उठाओ अपने कदम,
हार जीत की बाजी में
जी जान से लगाओ से लगाओ अपना दम,
मुश्किलों की जंजीरों को तोड़ कर
हौसलों से आगे बढ़ा हुआ हुआ अपने कदम।

जीवन में कठिन वक्त आएगा
तो मन में पैदा होंगे हजारों सवाल,
पर घबराना नहीं है कभी भी
सदा मन में रखना है सफलता का ख्याल,
एक बात को कभी ना भूलना
आपकी मेहनत ही जीवन में
लाएगी खुशियों का बवाल,
सफलता की ओर कदम बढ़ाते जाओ
मुबारक हो आपको 2023 का नया साल।

नए साल की कविताएं

2023 का नया साल आया है
दिल में बनाए रखो जज्बे को जिंदा,
हर रिश्ते में मिठास को घोलो
छोड़ दो दूसरों से जलन और निंदा,
कड़ी मेहनत और लगन से
अपने हर क्षेत्र में काम करो उम्दा,
दुआ है मेरी ईश्वर से
नए वर्ष में आप बनो सफलता का परिंदा।


नया साल है तो
नया बनाए अपना हर सवेरा,
रिश्तो को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाएं
इस दुनिया में कुछ नहीं है मेरा,
न ही कुछ है तेरा।

दिलों को एक-दूसरे से जोड़कर
बढ़ाएं अपनेपन का एहसास,
नई साल में नई सोच और
नई उमंग से रखें नया विश्वास,
इंसानियत का पाठ कभी ना भूलें
सदा मर्यादा को रखें अपने पास,
बिना शर्त और समर्पण के
दुनिया के हर बंधन को बनाएं खास।

चाहे कैसी भी आ जाए मजबूरी,
आधुनिकता की आंधी में
अपनों से ना बनाएं दूरी,
प्रेम की परिभाषा को रखें
सदा दिल के पास,
हर रिश्ता मधुर होगा
हर रिश्ता होगा खास,
नए साल के नए अवसर नए अवसर पर
बढ़ाएं अपनों से ही एहसास।
Happy New Year 2023


अगर जीवन को बनाना है
खुशियों की झोपड़ी,
तो पहले सुधारनी होगी अपनी खोपड़ी,
नया साल है तो नया माइंडसेट बना कर
मन में बांधनी होगी लक्ष्यों की लड़ी,
जीवन की मुसीबतों को झेलना होगा
तभी सफलता होगी तेरे सामने खड़ी,
दुआ करता हूं भगवान से
नए वर्ष में में जीवन में हो
खुशियों की नई झड़ी।


मन में है कोई कमजोरी
तो दो उसे हौसलों का सहारा,
वाहनों को बनाना छोड़ दो वरना
जीवन बर्बाद हो जाएगा सारा,
नए साल में नए अवसरों की
नई उम्मीदों से बढ़ाओ अपना पारा,
कोशिशों का रंग दिखेगा एक दिन
संसार में मुकाम होगा आपका न्यारा,
मेहनत को फीकी मत रखना
नए जोश के साथ नए साल को
बनाना और ज्यादा प्यारा।

बीते साल पर कविता

जनवरी से शुरू किया था सफर
दिसंबर से हो रहा है अंत,
बीत रहा है साल पुराना
दिल में यादें बना गया अनंत।

कई मुश्किल घड़ियां भी आई
पर हमने वक्त रहते संभाल लिया,
ऐ मेरे भगवान
यह जिंदगी देने के लिए शुक्रिया।

सर्दी खूब थी
बरसात भी नहीं थी कम,
गर्मी ने भी अपना कहर बरपाया
पता ही नहीं चला
साल कैसे बीत गया धमाधम,
हर बार खुशियों ने बाजी मार ली
चाहे कितने भी आए थे गम।

आदर्श बातें करते हैं सब
पर ना कोई राम है
न ही है कोई सीता,
इतना ही कहना चाहूंगा आखिर में
मिलाजुला कर यह साल बिता,
बस यही है मेरी पुराने साल की कविता।

और ये भी पढ़ें:

31 दिसंबर की आधी रात के साथ ही एक वर्ष का अंत होकर दूसरा नया वर्ष लग जाता है।

नया साल हमें नए सपने, नए लक्ष्य और नए आइडियाज की उम्मीदें देता है और हम सभी इसका जोर-शोर से स्वागत करते है। आप भी न्यू ईयर 2023 की इन कविताओं के संग इस खास मौके का जश्न मनाएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *