एलईडी स्टंप्स क्या है और कैसे काम करते है, फैक्ट्स

अगर आप क्रिकेट मैच देखते हैं तो आपने एलईडी स्टंप्स जरूर देखे होंगे। एलईडी स्टंप पर जब भी बॉल लगती है तो stumps में एलईडी फ्लैश होती है लेकिन क्या आपके मन में कभी सवाल आया है कि एलईडी स्टंप्स/विकेट कैसे काम करते हैं?

क्रिकेट में कई प्रकार की टेक्नोलॉजी उपयोग की जाती है जो क्लियर रिजल्ट देती है और आज क्रिकेट में एडवांस टेक्नोलॉजी के आने से यह खेल आसान बन गया है। इन एडवांस टेक्नोलॉजी में से एक है ‘एलईडी स्टंप्स या एलईडी विकेट्स’।

LED Stumps या LED Wickets क्या है

Led stumps kya hai, led wicket in hindi

पहले क्रिकेट मैच के दौरान किसी खिलाड़ी के closely रन आउट या स्टंप आउट होने के दौरान थर्ड अंपायर के लिए यह डिसीजन लेना थोड़ा मुश्किल होता था कि बेल हवा में थी या नहीं और इसका डिसीजन किसी टीम के हित में या विरोध में होने पर मैच का पासा पलट सकता है।

इस समस्या के समाधान हेतु आईसीसी ने क्रिकेट मैच में एलईडी स्टंप्स का प्रयोग किया जो आज लगभग हर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच का हिस्सा बनता जा रहा है, विशेषकर बड़े टूर्नामेंटों में।

एलईडी स्टंप्स को जिंग विकेट सिस्टम भी कहा जाता है। इन्हें Bronte EcKermann द्वारा बनाया गया जो आस्ट्रेलिया के है।

पहले स्टंप तथा बेल्स लकड़ी से बनाए जाते थे लेकिन अब यह फ्लैशिंग स्टम्प्स composite plastic से बनते है जो led lights के साथ आते है।

Led Wickets / Stumps कैसे काम करते है

जिंग विकेट सिस्टम में बेल तथा स्टंप में low voltage batteries लगी होती है तथा इनमें माइक्रोप्रोसेसर होते हैं जो बेल के दोनों सिरों को स्टंप से अलग होने पर डिटेक्ट करते हैं। स्टम्स में एलईडी लाइट फिट होती है तथा स्टम्प्स में लगे सेंसर 1 सेकंड के 1000वें भाग में यह detect कर लेते है कि bails स्टम्प्स से अलग हो गई है।  

यह स्टंप खिलाड़ी के बोल्ड होने रन आउट होने या विकेटकीपर द्वारा स्टंप करने पर तुरंत रेड रेड लाइट जलाते हैं जो यह बताती है कि बेल स्टंप से अलग हो गई है। यह विकेट सिस्टम उस समय बेहद कारगर साबित होता है जब कोई रन आउट या स्टंप बहुत करीबी होता है।  

Amazing Facts About LED Stumps in Hindi

जिंक विकेट सिस्टम क्रिकेट की एक एडवांस टेक्नोलॉजी है जो इस खेल को आधुनिक बनाती है। आइए जानते हैं एलईडी विकेट सिस्टम से जुड़े इंटरेस्टिंग फैक्ट्स के बारे में…

  1. एलईडी स्टंप्स बनाने का आईडिया Bronte Eckermann को उस समय आया जब उन्होंने अपनी बेटी के पास flashing led वाला खिलौने देखा।
  2. एलईडी स्टम्प्स को एलईडी विकेट तथा जिंग विकेट सिस्टम भी कहा जाता है।
  3. यह स्टम्प्स लकड़ी की बजाय कम composite plastic से बने होते है।
  4. एलईडी स्टंप्स बहुत महंगे होते हैं और इनके एक सेट की cost लगभग 25 लाख के आसपास होती है।
  5. पहले खिलाड़ी मैच जीतने के बाद stumps को हाथों में लेकर जश्न मनाते थे लेकिन अब एलईडी स्टंप्स के आने के बाद ऐसा नहीं करते क्योंकि यह स्टम्स बहुत एक्सपेंसिव है।
  6. यह स्टंप उस समय बेहद सटीक साबित होते हैं जब कोई करीबी रन आउट या स्टंप आउट का मामला हो।
  7.  आजकल हर बड़े क्रिकेट लीग जैसे आईपीएल, वर्ल्ड कप, T20 लीग में इस प्रकार के स्टंप्स प्रयोग में लाए जाते हैं।

उम्मीद है आपको यह आर्टिकल एलईडी स्टंप्स क्या है तथा एलईडी स्टंप्स के बारे में इंटरेस्टिंग फैक्ट्स पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तों तथा क्रिकेट प्रेमियों के साथ जरूर शेयर करें।

👇 नीचे दिए buttons पर क्लिक कर Post को शेयर करें:

Add a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.