Father’s Day History in Hindi | फादर्स डे क्यों मनाया जाता है?

पिता के महत्व को सम्मान देने के लिए दुनिया के अधिकतर देशों में हर साल जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाया जाता है लेकिन क्या आप जानते है कि फादर्स डे का इतिहास क्या है और फादर्स डे क्यों मनाया जाता है? चलिए जानते है फादर्स डे की शुरुआत कब और कहां से हुई तथा Father’s Day History In Hindi के बारे में।   

किसी भी पिता का अपने बच्चों की जिंदगी में बहुत अमूल्य योगदान होता है। कोई भी बच्चा पिता के अहसानों को चुका नहीं सकता है लेकिन पिता को स्पेशल फील कराने के लिए साल के एक दिन को पिता दिवस के रूप मनाया जाता है, ठीक उसी प्रकार जैसे कि मदर्स डे मनाया जाता है।    

History of Father’s Day in Hindi – फादर्स डे की शुरुआत कैसे हुई?

Father's day history in hindi, father's day kyu manaya jata hai

फादर्स डे को मनाने के पीछे की inspiration मदर्स डे को माना जाता है क्योंकि जिस प्रकार मदर्स को सम्मान देने के लिए मदर्स डे मनाया जाता है, उसी प्रकार फादर्स को respect देने के लिए लोगों ने फादर्स डे के बारे में सोचा।  

वैसे हर साल जून के तीसरे रविवार (Sunday) को फादर्स डे मनाया जाता है लेकिन यह शुरू कैसे हुआ, इसके बारे में दो घटनाएं प्रचलित है।  

चलिए जानते है…    

1. फादर्स डे मनाने का पहला कारण

इसके अनुसार पहला फादर्स डे 19 जून 1910 को वाशिंगटन में मनाया गया था।  

फादर्स डे मनाने के आईडिया के पीछे एक महिला थी जिसका नाम सोनोरा स्मार्ट डोड (Sonora Smart Dodd) था। उन्होंने फादर्स डे के बारे में तब सोचा जब वो 1909 में एक चर्च में मदर्स डे के बारे में सुन रही थी। उसने सोचा कि जब सभी माताओं को सम्मान मिल रहा है जबकि पिता भी सम्मान रूप से प्रशंसा के योग्य है।  

सोनोरा के पिता विलियम जैक्सन स्मार्ट थे। सोनोरा समेत उनके कुल छ: बच्चे थे। सोनारा की मां की छठे बच्चे के जन्म के दौरान मौत हो गई थी। इसके बाद उनके पिता ने ही सभी बच्चों का पालन पोषण किया और उन्हें बड़ा किया।  

उनके पिता का बिना मां के अपने बच्चों के प्रति इसी प्रेम के चलते सोनारा ने सोचा कि साल में एक दिन ऐसा होना चाहिए जो पिताओं (fathers) को समर्पित हो।  

सोनोरा ने शुरुआत में 5 जून को फादर्स डे मनाने का तय किया लेकिन किसी कारणों के चलते यह जून के तीसरे रविवार को मनाया गया। तब से यह अधिकतर देशों में जून के तीसरे रविवार को ही मनाया जाता रहा है।  

1974 में US में फादर्स डे को नेशनल हॉलिडे घोषित किया गया था।  

2. फादर्स डे मनाने के पीछे दूसरा कारण

पहले फादर्स डे की दूसरी कहानी 5 जुलाई, 1908 को वेस्ट वर्जिनिया से जुड़ी हुई है।  

5 जुलाई को Grace Golden Clayton ने लोकल चर्च में सुझाव दिया कि वे पिताओं के सम्मान देने के लिए services दें यानि फादर्स के लिए कुछ करें। विशेषकर उन 361 लोगों के लिए जो एक घातक खदान विस्फोट में मारे गए थे। चर्च में फादर्स के सम्मान के लिए आयोजित इस दिन का ज्यादा प्रचार नहीं हुआ और यह स्थानीय स्तर पर ही सिमट गया।  

दुनिया के अलग अलग देशों में फादर्स डे (Father’s Day around The World)

US के बाद अन्य देशों ने भी फादर डे को मनाना शुरू किया। कई देशों ने इसे यूएस की तरह जून के तीसरे रविवार को ही मनाना शुरू किया जबकि कई देशों ने फादर्स को सम्मान देने के लिए अलग-अलग तारीखें तय की।  

  • जून के तीसरे रविवार को – फ्रांस, नीदरलैंड्स, यूनाइटेड स्टेट्स, जापान, यूनाइटेड किंगडम, भारत, कनाडा, बांग्लादेश, ग्रीस, हांगकांग, आयरलैंड, जमैका, मलेशिया, मैक्सिको, पाकिस्तान, पेरू, स्वीटजरलैंड, श्रीलंका, टर्की, साउथ अफ्रीका, सिंगापुर, क्यूबा में।
  • सितंबर के पहले रविवार को – आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, स्वीडन में।
  • नवम्बर के पहले रविवार को – डेनमार्क, फिनलैंड, नॉर्वे में।
  • अगस्त के दूसरे रविवार को – ब्राजील में।
  • जून के पहले रविवार को – लिथुआनिया में।
  • 20 जून को – बुल्गारिया में।
  • 8 अगस्त को – ताइवान, चाइना में।
  • 5 December को – थाइलैंड में।
  • 19 मार्च (सेंट जोसेफ के दिन) को – पुर्तगाल, स्पेन में।
  • जुलाई के दूसरे रविवार को – उरूग्वे में।

I Hope आपको यह आर्टिकल फादर्स डे हिस्ट्री इन हिंदी पसंद आया होगा। इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें ताकि और भी लोग फादर्स डे के ओरिजिन के बारे में जान सकें।  

Leave a Reply

Close Menu