सिंड्रेला की कहानी Cinderella Story In Hindi

हम सभी को बचपन में कहानियां सुनने को मिली है जिन्हें दादा दादी नाना नानी द्वारा सुनाई गई थी। स्मार्टफोन के कारण आज कहानियों का चलन थोड़ा कम हो गया है लेकिन सिंड्रेला की कहानी जैसी कुछ कहानियां हैं जो लगभग सभी बच्चों ने अपने बचपन में सुनी होती हैं। disney cinderella story in hindi, cinderella hindi kahani

यह एक सिंड्रेला नामक लड़की की कहानी है जो बचपन से किसी राजकुमार का सपना देख रही थी। वो घुटन भरे माहौल में रहती हैं और मजबूरी का जीवन जीती हैं। इसके बाद सिंड्रेला की जिंदगी में एक मोड़ आता है जो उसकी लाइफ को बदल देता है। यह कहानी इसी के बारे में है।

चलिए आपको ले चलते हैं सिंड्रेला और उसके राजकुमार की कहानी में…

सिंड्रेला की कहानी – Cinderella Story In Hindi Written

सिंड्रेला की कहानी, Cinderella Story In Hindi Written

बहुत समय पहले की बात है। किसी राज्य में एक बहुत बड़ा व्यापारी रहा करता था। उस व्यापारी के ‘एला’ नाम की एक लड़की थी जो बहुत सुंदर और सुशील थी। एला की जिंदगी बहुत खुश थी लेकिन उनके जीवन में सिर्फ एक कमी थी, उसके मां नहीं थी। हालांकि उसके पिता उसे बहुत प्यार से रखते थे।

एला के पिता ने उसकी देखभाल करने तथा मां की कमी को पूरा करने के लिए एक दूसरी औरत से शादी कर ली। उस औरत के 2 बेटियां थी। एला उन दोनों बेटियों तथा अपनी नई मां को खूब प्यार करती थी लेकिन वे एला को प्यार नहीं करती थी और तंग भी करती थी। पर एला के पिता की मौजूदगी में ज्यादा कुछ नहीं कर पाती थी।

एक बार एला के पिता किसी व्यापार के सिलसिले में शहर से बाहर जाते हैं और फिर कभी लौट नहीं पाते हैं। ऐसे में एला की जिंदगी में मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ता है क्योंकि पिता की मौत से उसकी नई मां और सौतेली बहनें उसे सताने लगती हैं।

एला से उसका कमरा छीन लेती है। वह एक कोठरी में रहने लगती हैं। घर के नौकरों को घर से बाहर निकाल दिया जाता है और एला से घर का सारा काम करवाने लगती है यानि एला के साथ नौकरों जैसा बर्ताव किया जाता है।

एला दिन भर काम करती है और थकी हारी अंगीठी के किनारे ही सो जाती है। जब वह सुबह उठती है तो उसका पूरा शरीर अंगीठी की राख (cinder) से भरा होता है। इस कारण उसका नाम एला से ‘सिंड्रेला‘ पड़ जाता है।

इस प्रकार सिंड्रेला अपने जीवन के कई दुखभरे समय को बिताती है। फिर एक दिन उसके राज्य में ऐलान किया जाता है कि राजमहल में राज्य की समस्त लड़कियों को आमंत्रित किया गया है क्योंकि राज्य का राजकुमार वहां आई लड़कियों में से ही अपने लिए राजकुमारी सुनने वाला है।

राज्य की पूरी लड़कियां खुश होती है और राजकुमार से शादी करने के सपने देखने लगती है। सिंड्रेला और उसकी दो सौतेली बहनें भी राज महल में जाने को सोचती है लेकिन एला को उसकी नई मां राजमहल में जाने से मना कर देती है।

इसके बाद उसकी सौतेली बहने तैयार होकर राजमहल चली जाती है और सिंड्रेला फटे पुराने कपड़ों में ही घर का काम कर अंगीठी के पास उदास मन से बैठ जाती है।

सिंड्रेला और जादूगरनी

सिंड्रेला दुखी मन से राज कुमार तथा उसके जलसे के बारे में सोच रही होती है तभी उसके सामने एक जादूगरनी प्रकट होती है। सिंड्रेला के दुखी चेहरे को देखकर कहती है, “ओह प्यारी सिंड्रेला, तुम्हें क्या हुआ है? क्या मैं तुम्हारी मदद कर सकती हूं?”

इस पर सिंड्रेला अपनी पूरी कहानी जादूगरनी को बता देती है। फिर जादूगरनी ने सिंड्रेला से पूछा कि, “क्या तुम अभी भी राजकुमार के जलसे में जाना चाहती हो?” सिंड्रेला इसका जवाब हां में देती है।

इसके बाद जादूगरनी अपनी छड़ी घुमाती है और वहां पड़े एक कद्दू को बग्गी में बदल देती है, चूहों को घोड़ा बना देती है और एक मेंढक को कोचवान बना देती है। जादूगरनी अपनी छड़ी के जादू से सिंड्रेला को एक राजकुमारी का रूप दे देती है। उसके पैरों में सुंदर कांच की जूती पहना देती है।

फिर वह सिंड्रेला से कहती है कि “जा बेटी, जलसे में जाकर अपनी इच्छा पूरी कर ले लेकिन एक बात याद रखना कि रात के 12:00 बजते ही यह सारा जादू खत्म हो जाएगा और तुम अपने पुराने स्वरूप में आ जाओगी।

इसके बाद सिंड्रेला जादूगरनी को रात के 12:00 बजे से पहले आने का वादा कर वहां से निकल पड़ती है।

सिंड्रेला और राजकुमार

वह अपने भव्य रूप में जलसे में प्रवेश करती है। उसके इस रूप को देखकर वहां बैठे सभी लोगों की नजरें एक बार के लिए ठहर जाती है। सभी लोग सिंड्रेला की सुंदरता को देखकर आश्चर्यचकित हो जाते हैं लेकिन कोई भी उसे सिंड्रेला के रूप में पहचान नहीं पाता है।

राजकुमार सिंड्रेला को देखता है और वह उसे पहली नजर में ही पसंद आ जाती है और उस पर से अपनी नजरें नहीं हटा पाता है। राजकुमार सिंड्रेला के पास गया और उसे अपने साथ नृत्य करने के लिए आमंत्रित किया।

सिंड्रेला मान जाती है और फिर वह राजकुमार के साथ पूरी शाम नृत्य करती रही। इससे वहां उपस्थित अन्य लड़कियां और उसकी दो सौतेली बहनों जलती रही। राजकुमार ने सिंड्रेला से उसकी पहचान पूछी लेकिन सिंड्रेला ने उसे कुछ नहीं बताया।

रात को जब 12:00 बजने को आते हैं तो सिंड्रेला को अपना वादा याद आता है और वो राजकुमार को बिना बताए जलसे से चली जाती है। राजकुमार को जब तक पता चलता है कि वह वहां से जा चुकी है तो वो उसे ढूंढता है लेकिन वह उसे नहीं मिलती है।

फिर उसे सिंड्रेला के पैरों में पहनी कांच की जूती मिलती है क्योंकि सैंड्रेला जल्दी में अपनी कांच की एक जूती को राजकुमार के पास ही भूल जाती है।

इसके बाद घर पहुंचने पर सिंड्रेला का जादू पूरा हो जाता है और वह फिर से अपने पुराने फटे स्वरूप में आ जाती है।

राजकुमार सिंड्रेला के साथ बिताए पलों को भूल नहीं पाता है और वह उसे ढूंढ कर सिंड्रेला से ही शादी करना चाहता है इसलिए राजकुमार पूरे राज्य मे ऐलान कराता है कि जिस किसी भी लड़की के पैर में वह कांच की जूती आ जाएगी, वह उससे शादी कर लेगा।

ऐसे में पूरे राज्य की लड़कियां राजकुमार से शादी करने के लिए कांच की जूती को अपना बताने लगती है। लड़कियों के घर जा जाकर उन्हें जूती पहनाई गई लेकिन किसी के भी पैरों में वो जूती फिट नहीं होती है।

आखिर में राजकुमार और उसके सेवक सिंड्रेला के घर आते हैं। इससे सिंड्रेला की बहनें खुश हो जाती है और वे कांच की जूती को अपना बताने लगती है लेकिन उनमें से किसी को भी वह पूरी नहीं आई।

अब आखिर में सबकी नजरें सिंड्रेला पर टिक जाती है और सिंड्रेला को वो कांच की जूती पहनने को दी जाती है। जैसे ही सिंड्रेला कांच की जूती में अपना पैर रखती है, वो जूती उसके पैर में आ गई जैसे उसी के लिए बनाई गई हो। किसी को भी यकीन नहीं होता है कि वह सुंदर लड़की सिंड्रेला हो सकती है। इस बात से सबसे ज्यादा हैरान और परेशान उसकी सौतेली मां और बहनें होती है।

इसके बाद राजकुमार जब सिंड्रेला से उससे शादी करने के लिए पूछता है तो सिंड्रेला उसे खुशी खुशी ‘हाँ’ कर देती है।

अगले ही दिन राजकुमार और सिंड्रेला की शादी बड़ी धूमधाम से संपन्न हो जाती है। इस प्रकार सिंड्रेला अपने पिता के गुजरने के बाद कई कष्टों को सहते हुए भी राजकुमार से शादी कर लेती है।

सिंड्रेला की सौतेली मां और बहनों को सिंड्रेला के साथ बुरे व्यवहार के कारण उनके किये की सज़ा दी जाती है।


We Hope आपको यह cinderella story in hindi पसंद आयी होगी। अगर आप इस प्रकार की और कहानियों के बारे में जानना चाहते है तो comment करके बताएं। हम आपके लिए जल्द से जल्द नई कहानियां प्रकाशित करेंगे।

Leave a Reply

Close Menu