किताबें पढ़ने से होते है ये 10 गजब के फायदे

किताबें पढ़ना मनुष्य के सबसे अच्छे गुणों में से एक माना जाता है। यह भी कहा जाता है कि किताबें इंसान की सबसे अच्छी दोस्त होती है लेकिन आज की व्यस्ततम लाइफस्टाइल में बहुत कम लोग ऐसे है जो किताब पढ़ना को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना पाते है। किताबें पढ़ने के बहुत से फायदे है। Benefits of reading books

अपनी दिमागी क्षमता को विकसित करने, लाइफस्टाइल बेहतर बनाने तथा ऐसे और अनेक लाभ है जो आप किताबें पढ़कर पा सकते है।

किताबें पढ़ने के फायदे – 10 Benefits of Reading Books

benefits of reading books, kitaab padhne ke fayde

एक समय था जब किताबें लोगों के अकेलेपन का साथी होती थी लेकिन आज इन किताबों की जगह स्मार्टफोन ले चुका है। लोग किताबों को छोड़कर सोशल मीडिया को अपनी तन्हाई दूर करने में काम ले रहे है। आपको एक सक्सेसफुल व क्रिएटिव इंसान बनने के लिए किताबों से नजदीकी रखना जरूरी है।

Let’s get start with benefits of reading books in hindi…

1. रचनात्मक पृवत्ति

किताबें पढ़कर आप रचनात्मक पृवत्ति के इंसान बन जाते है जिससे आपकी सोच इनोवेटिव हो जाती है और आप नये-नये आइडियाज create करने लगते है।

किसी भी व्यक्ति का रचनात्मक पृवत्ति का होना उसके लिए personality में एक plus point होता है।आपको रचनात्मकता विकसित करने के लिए बुक्स पढ़ना जरूरी है।

2. एकाग्रता बढ़ती है

जब आप किताब पढ़ते है तो आपका ध्यान सिर्फ किताब पढ़ने पर केन्द्रित होता है। इससे आपकी एकाग्रता बढ़ती है।

जब आपकी एकाग्रता बढी़ हुयी होती है तो आप कोई भी काम और अधिक ध्यान लगाकर कर पाते है। यह आपके लिए एक प्रकार से कार्यक्षमता में वृद्धि है।

जब आप रोजाना किताब पढ़ने की आदत डाल लेते है तो आपकी concentration power बढ़ती है इसलिये daily basis पर किताब पढ़ने की आदत डालिये।

3. जानकारी बढ़ती है

रोजाना किताबें पढ़ने से आप की जानकारी बढ़ती है। आपको नई-नई चीजों के बारे में जानने को मिलता है। आप इस दुनिया की अलग-अलग नॉलेज पाने लगते हैं।

अगर आपके पास अच्छी जानकारी है तो यह आपके लिए करियर ग्रोथ में भी फायदेमंद हो सकता है। साथ ही आपके पास किसी भी फील्ड में अच्छी जानकारी है तो यह जिंदगी के हर पहलू में काम आने वाली बात है।

अतः आपको अपनी जानकारी बढ़ाने तथा जिंदगी के नजरिये में परिवर्तन लाने के लिए किताबें पढ़ने की आदत को डालना चाहिए।

4. प्रेरणास्रोत

अगर आप अपनी जिंदगी में कुछ बड़ा करना चाहते हो, कुछ अलग करना चाहते हो तो आपको किताबें पढ़ने की आदत डालना जरूरी है। अगर आप नियमित तौर पर किताबें पढ़ते हैं तो किताबें आपके लिए सबसे बड़ा प्रेरणास्रोत बन सकती है जो किसी भी व्यक्ति को जिंदगी में बड़ा सोचने, बड़ा करने तथा बड़ा बनने के लिए जरूरी है।

सभी सक्सेसफुल व्यक्तियों की लाइफस्टाइल पर नजर डालें तो किताब पढ़ना उनके दैनिक कार्य में शामिल है। ऐसा करने से उन्हें हमेशा पॉजिटिव सोचने तथा कुछ नया करने की प्रेरणा मिलती रहती है। यही उनकी सफलता का राज होता है।

किताबों से प्रेरणा लेने के लिए आप सक्सेसफुल लोगों की Biographies पढ़ सकते हैं जिससे आप जान पाएंगे कि किस प्रकार उन्होंने अपने जीवन में संघर्ष किया जिससे उन्होंने सफलता पाई।

अतः अगर आप भी अपनी जिंदगी में कुछ बड़ा, कुछ बेहतर करना चाहते हो तो आपको अच्छे अच्छे लेखकों की अच्छी-अच्छी किताबें पढ़नी चाहिए जो आपके लिए प्रेरणा स्रोत बनेगी।

5. भाषाशैली विकसित होती है

जब आप नियमित तौर पर अलग-अलग क्षेत्रों की अलग-अलग किताबें पढ़ते हैं तो आपके अंदर हर चीज के बारे में अच्छी-खासी जानकारी होती है। यह जानकारी आपको किसी भी क्षेत्र में बात करने, अपनी राय रखने तथा communication power को बढ़ाती है।

हो सकता है कि कई बार आप जानकारी के अभाव में किसी जगह पर ढंग से बात नहीं कर पाते हैं या बात करने से झिझकते है। इसके समाधान के लिए बुक्स रीडिंग शानदार विकल्प है।

रोजाना पढ़ने की आदत आप में आत्मविश्वास बढ़ाती है जिसके आधार पर आप स्वयं को कहीं भी किसी भी फील्ड में पेश कर सकते हैं। बुक्स रीडिंग भाषाशैली विकसित करने में एक आत्मविश्वासी कारक है।

6. अकेलेपन का साथी

किताबें अकेलेपन को दूर करने का सबसे अच्छा साथी होती है। हालांकि आजकल लोग किताबों की बजाय स्मार्टफोन को इसका विकल्प बना रहे हैं, यह बात तभी सही है जब आप स्मार्टफोन को एक बेहतर तरीके से यूज कर रहे हैं।

गैजेट्स का उपयोग भी आज की लाइफस्टाइल में अपनी जगह सही है। फिर भी आपको स्मार्टफोन या गैजेट्स से दूरी बनाकर किताबों को अपनी जिंदगी में जगह जरूर देनी चाहिए।

जब भी आपका मूड ठीक ना हो या अकेलापन महसूस कर रहे हो तो उस समय पढ़ना शुरू कर दीजिए। इससे आपका मन रिलैक्स हो जाता है, आपकी बोरियत दूर हो जाती है। पढ़ने से आपके शरीर में नई ऊर्जा का संचार होता है।

7. कल्पनाशक्ति बढ़ती है

किताबे पढ़ने से आपकी imagination power बढ़ती है, यह बात सत्य है। जब भी हम कोई कहानी या उपन्यास पढ़ते हैं तो हमारे मन में उसमें आगे होने वाली घटनाओं के बारे में जानने की उत्सुकता बढ़ती है और हम यह कल्पना करने लगते हैं कि आगे क्या होगा?

अगर आपने कभी कोई बड़ी कहानी या उपन्यास पढ़ा है तो आपने यह जरूर जाना होगा कि पढ़ते समय कहानी या उपन्यास का जो समापन सोचा होता है यानि कि कल्पना की होती है, कहानी या उपन्यास का समापन उससे अलग होता है। इससे आपके मन में यह आइडिया/विचार आने लगता है कि इस कहानी या उपन्यास का समापन कुछ इस प्रकार से भी हो सकता था। यही आपकी कल्पना शक्ति को बढ़ाने का स्रोत बनता है।

अगर यही कहानी या उपन्यास आप विजुअल कंटेंट (visual content) के रूप में टेलीविजन या मोबाइल फोन में देखते तो आप ending की कल्पना नहीं कर पाते क्योंकि आप टेलीविजन या स्मार्टफोन के विजुअल पावर (visual power) में बंध जाते है इसीलिए हमें टीवी या स्मार्टफोन की जगह बुक्स पढ़ना को ज्यादा prefer करना चाहिये।

इसी कल्पना शक्ति के दम पर हमारे मन में नए-नए आइडियाज जनरेट (generate) होने लगते हैं।

8. बेहतर नींद आती है

किताबें पढ़ना एक अच्छी नींद लाने में सहायक है। हम अपनी उठापटक भरी जिंदगी में हजारों विचारों से इधर-उधर होते रहते हैं जिससे हमारा मन अशांत हो जाता है। इन विचारों से ध्यान भटकाने यानि कि इन विचारों को मन से भ्रमित करने के लिए हमें बुक्स पढ़नी चाहिए जिससे हमारा ध्यान एक जगह पर केंद्रित हो जाता है और इसके बाद हम एक अच्छी नींद ले पाते हैं।

जैसा कि हम पहले जान चुके हैं कि बुक्स पढ़ने से हमारा कंसंट्रेशन पावर बढ़ता है और कंसंट्रेशन पावर बढ़ना असरकारक नींद लाने में सहायक है।

आपको एक बेहतर नींद लेने के लिए e-book नहीं पढ़ना है बल्कि कागजी बुक पढ़ना है।

9. याददाश्त बढ़ती है

किताबें पढ़ने से आपकी दिमागी क्षमता भी improve होती है। किताबें पढ़ने से आपका दिमाग नये-नए पात्रों के बारे में जानता है और नए-नए thoughts सृजित होते है। इससे याददाश्त क्षमता भी बढ़ती है।

10. शब्द भंडार बढता है

रोजाना किताबें पढ़ने से हमारा नए-नए शब्दों से परिचय होता है जो हमारी vocabulary को बढ़ाता है। बुक्स पढ़ने से हमें नई-नई रोचक जानकारियां मिलने के साथ-साथ हमारा शब्द भंडार बढ़ता है।

शब्द भंडार के बढ़ने से हमारे पास एक ही शब्द के कई पर्यायवाची हो जाते हैं जिनका हम अलग-अलग अवसरों पर प्रयोग कर अपनी बात को आकर्षक ढंग से प्रस्तुत कर सकते हैं।

रोजाना बुक्स पढ़ने की आदत हमारे व्यवहार को प्रभावित करती है और हम पहले से ज्यादा परिपक्व बन जाते हैं। हमारे सोचने के तरीके में परिवर्तन होता है और हम पहले से ज्यादा अच्छा कर पाते हैं। बुक्स हमें एक बेहतर इंसान बनाती है।

अब आपके मन में यह सवाल जरूर पैदा हुआ होगा कि हमें कैसी बुक्स पढ़नी चाहिए। आपको प्रोडक्टिविटी बढ़ाने वाली, जिंदगी में अहम बदलाव लाने वाली, मानव संस्कृति का ज्ञान देने वाली, देश-दुनिया का परिचय कराने वाली, रिश्तो में मिठास घोलने वाली तथा अच्छे-अच्छे उपन्यास की किताबें पढ़नी चाहिए।

आप कई प्रकार की किताबों को ऑनलाइन पढ़ सकते हैं लेकिन मेरा आपको यह सुझाव रहेगा कि आप किताबों को ऑनलाइन पढ़ने की बजाय घर लाकर पढ़ें। इससे आप बेहतर तरीके से पढ़ पाएंगे।


अंतिम शब्द

किताबें प्राचीन सभ्यता से मानव इतिहास के साथ जुड़ी हुई है। किताबें हमारे लिए मनोरंजन का साधन होने के साथ-साथ कई फायदे पहुंचाती है। निरंतर किताबें पढ़ने से हमारी निर्णय क्षमता में वृद्धि होती है।

किताबें पढ़ना याददाश्त को बढ़ाने के साथ-साथ हमें प्रेरित (inspire) भी करती है। इससे हमारी शब्दावली में वृद्धि होती है। किताबें पढ़ने से हमारा ध्यान केंद्रित होता है और हम तनाव मुक्त होकर बेहतर नींद ले पाते हैं।

यह भी पढ़ना न भूलें:

अगर आपको यह आर्टिकल किताबें पढ़ने के लाभ पसंद आया है तो इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Close Menu