Basic Photography Terms for Beginners in Hindi

  • द्वारा

फोटो खींचना काफी आसान लगता है लेकिन एक प्रोफेशनल फोटोग्राफर बनने के के लिए फोटोग्राफी की टेक्निकल स्किल्स को समझना जरूरी है। इस लेख में हमने basic photography terms के बारे में बताया है जिन्हें प्रत्येक beginners को जानना चाहिए। Common Camera Terminology in hindi

Basic Photography Terms in Hindi, Photography Terms for Beginners in Hindi, common camera terms in hindi

कई लोग फोटोग्राफी को सिर्फ ‘कैमरे हॉल से देखना‘ और ‘बटन दबाकर क्लिक करना‘ तक ही सीमित समझते हैं लेकिन फोटोग्राफी इससे कहीं आगे बढ़कर हैं। एक beginner photographer को फोटोग्राफी की बेसिक बातें, नॉलेज तथा कैमरे से जुड़ी जानकारी होना बहुत जरूरी है।

वैसे तो फोटोग्राफी के क्षेत्र में कैमरे तथा इससे जुड़ी इससे जुड़ी कई बातों को जानना जरूरी है लेकिन यहां बेसिक फोटोग्राफी टर्म्स के बारे में बताया है क्योंकि इनको समझे बिना photography अधूरी है।

Basic Photography Terms for Beginners in Hindi

1. Aperture (अपर्चर)

अपर्चर कैमरा लेंस के खुलने का आकार है। अगर आसान भाषा में कहा जाए तो यह लेंस के भीतर का छेद है जिसके द्वारा प्रकाश कैमरे में आता है।

बड़ा अपर्चर (wide aperture) होने से फोटो ज्यादा अच्छी (bright) आती है क्योंकि कैमरे में अधिक मात्रा में प्रकाश आता है जबकि small aperture होने से कम लाइट आती है और फोटो इतने अच्छे नहीं आते हैं।

अपर्चर को मानव आंख से तुलना कर समझा जा सकता है जैसे कम प्रकाश की उपस्थिति में हमारे आंखों की पुतलियां फैल जाती है जिससे ज्यादा प्रकाश हमारी आंखों में जा सके और हम स्पष्ट देख सकें जबकि अधिक प्रकाश होने की स्थिति में आंखों की पुतलियां सिकुड़ जाती है।

अतः अपर्चर फोटोग्राफी में आंख की पुतली की तरह काम करता है।

2. F Stops

फोटोग्राफी की भाषा में अपर्चर को F Stops में मापा जाता है जैसे f/1.8, f/2.0 & f/22 etc.

उदाहरण के लिए छोटा f-stop f/1.8 आकार में बड़ा है जबकि बड़ा f-stop f/22 छोटा है.

Note: जब आप नया स्मार्टफोन खरीदते है तो कैमरा स्पेसिफिकेशन में अपर्चर का नाम जरूर सुना होगा जैसे फोन का कैमरा 12 Mega Pixel जो अपर्चर f/1.8 के साथ आता है।

3. Aspect Ratio

इसका अर्थ कैमरे द्वारा खींचे गए फोटो का आकार (shape) या format से है जैसे 4:3, 3:3 या 16:9 etc.

लगभग सभी कैमरों में एस्पेक्ट रेशियो (aspect ratio) के बीच स्विच करने का ऑप्शन होता है।

aspect ratio को फोटो की एडिटिंग के दौरान भी बदला जा सकता है।

4. Manual Mode

कैमरा के डायल में मैनुअल मोड को M से दर्शाया जाता है।

इस मोड से शटर स्पीड, अपर्चर, ISO जैसी सेटिंग्स को कंट्रोल किया जा सकता है।

वैसे तो लोग जब फोटोग्राफी में शुरुआत करते हैं, कैमरे में सही एक्सपोजर के लिए ऑटोमेटिक मोड के लिए ऑटोमेटिक मोड ऑन रखते हैं लेकिन जैसे-जैसे फोटोग्राफी का नॉलेज होने लगता है तो लोग aperture priority और shutter priority जैसे फीचर के लिए मैनुअल मोड का उपयोग करना शुरू करते हैं।

5. ISO 

सही एक्सपोजर के साथ अच्छा फोटो लेने के लिए कैमरे की प्रमुख सेटिंग्स में से एक ISO है।

ISO कैमरे की प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता को दर्शाता है जैसे ISO 100 कम sensitive है जबकि ISO 3200 अधिक sensitive है।

Higher ISO कम प्रकाश या रोशनी में भी बेहतर शूट करता है यानि low light photography में शूट करने की अनुमति देता है।

6. Burst Mode

आप एक समय में एक फोटो ले सकते ले सकते हैं या कैमरे में ब्रस्ट मोड ऑन करने के बाद मोड ऑन करने के बाद करने के बाद यह तब तक फोटो लेते रहेगा, जब तक आप बटन को दबाए रखेंगे।

अलग-अलग कैमरा में burst स्पीड अलग अलग अलग होती है। कई कैमरे बहुत फास्ट होते हैं जबकि कई कैमरे धीरे-धीरे यह काम करते हैं।

7. Depth of Field

कैमरे से फोटो खींचने के दौरान सब्जेक्ट के आगे और पीछे का जितना भाग पूर्ण फोकस में होता है, उसे डेप्थ ऑफ फील्ड (DOF) कहा जाता है।

Depth of length को कैमरा लेंस के अपर्चर से नियंत्रित किया जाता है या बदला जाता है।

8. Exposure Compensation

Exposure Compensation कैमरे को यह बताने का तरीका है कि फोटो का एक्सपोजर कैसा रखना है; lighter या darker. 

सामान्यत: इसे कैमरों में EV या +/- से दर्शाया जाता है।

EV माइनस में होने पर फोटो में अंधेरा बढ़ेगा (darker होगा) और प्लस में होने पर फोटो में लाइट बढ़ेगी यानि ओवरएक्सपोज होगा।

पर्याप्त रोशनी में EV को बदलने की आवश्यकता नहीं होती है।

9. Hot Shoe

यह कैमरा के ऊपर का स्लॉट है जहां अन्य इक्विपमेंट जोड़े जाते हैं जैसे फ्लैश इत्यादि।

10. Shutter Speed

कैमरा सेंसर के आगे एक पर्दा जैसा कुछ होता है, उसे शटर कहते हैं।

जब फोटोग्राफर फोटो खींचने के लिए क्लिक बटन दबाते हैं तो यह पर्दा उठ जाता है और प्रकाश कैमरा सेंसर पर आता है जिससे फोटो खींच जाती है।

फोटो खींचने के दौरान यह शटर जितनी देर तक खुला रहता देर तक खुला रहता है, उसे शटर स्पीड कहते हैं। इसे 1/150, 1/200 की तरह प्रदर्शित किया जाता है।

यह भी पढ़ें: Quora क्या है और इसका उपयोग कैसे करें

11. Shutter Release

यह वो बटन है जिसे पिक्चर को क्लिक करने के लिए दबाया जाता है। इसे शटर बटन भी बटन भी कहते हैं।

12. Viewfinder

यह कैमरे का हॉल है जिससे फोटो लेने के दौरान देखा जाता है।

13. White Balance

कई बार फोटो लेने के दौरान यह naturally होने की बजाय कुछ नीलाहट या पीलापन लिए हुए होती है। यह white balance adjustment के कारण होता है।

फोटो को रियल लाइफ एक्यूरेसी के साथ लेने के लिए white balance का proper use होना जरूरी है। 

वैसे तो यह सेटिंग कैमरे में ऑटो होती है लेकिन कई बार सही फोटो ना आने के कारण इसे मैनुअल मैनुअल रखना आवश्यक होता है।

यह भी जानें: Timelapse और Hyperlapse में अंतर

14. Raw Files

यह फोटो को सहेजने का एक प्रकार है जो फोटोग्राफर को फोटो एडिटिंग पर और अधिक कंट्रोल देती है यानि इस फाइल टाइप में unprocessed & uncompressed होता है जिससे exposure और bit depth में सुधार किया जा सकता है।

इसके अलावा JPEG FORMAT में भी फोटो को सेव किया जाता है। यह compressed होता है जिसके कारण रॉ फाइल की तुलना में यह बहुत छोटी होती है और कम स्टोरेज घेरती है।


यह फोटोग्राफी की मूलभूत जानकारी है और कोई भी फोटोग्राफर इन्हें जाने बिना बेहतर फोटोग्राफी नहीं कर सकता है।

अगर आपके पास DSLR CAMERA है तो निरंतर अभ्यास के साथ आप इन सभी photography terms के बारे में जान जाएंगे। हम आशा करते है कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा, comment box में फीडबैक जरूर दें।

यह भी पढ़ें:

👇 यहाँ से इस लेख को शेयर करें:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.