स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2022 पर भाषण

सबसे पहले हमारी तरफ से आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। इस लेख में हम आपके लिए लाये है स्वतंत्रता दिवस पर भाषण। Independence Day Speech in Hindi, 15 August par Speech, 15 August Par Bhashan Hindi Me, 15 august speech in hindi

15 August par Speech, 15 August Par Bhashan Hindi Me, 15 august speech in hindi

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर स्कूल/कॉलेज में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में भाषण एक अहम कड़ी होता है, भले ही वो स्वतंत्रता दिवस के लिए बच्चों का भाषण हो या प्रिंसिपल/प्रधानाध्यापक का।

15 अगस्त के लिए भाषण को आकर्षक होने के लिए इसमें शुरुआत, मध्य पद और समापन का बेहतरीन होना जरूरी है अन्यथा भाषण सिर्फ एक लेख बन जाता है और ऑडियंस से नहीं जुड़ पाता है।

हमने यहाँ पर mahitrack.com रीडर्स के लिए अच्छा व आवश्यक 15 अगस्त भाषण लिखा है जिसे आप स्वतंत्रता दिवस के दिन बोल सकते है।

15 अगस्त के लिए भाषण (15 August Speech in Hindi)

15 august bhashan in hindi, pandra august par bhashan, 15 august bhashan hindi mein, 15 august speech in hindi 2022, 15 august 2022 ke liye bhashan, Independence Day Speech, 15 अगस्त का भाषण।


माननीय मुख्य अतिथि महोदय, आदरणीय शिक्षकगण, अभिभावकों, मेरे प्यारे भाइयों और बहनों – आप सभी को आजादी के दिन स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कोटि-कोटि शुभकामनाएं।

आज हमारा देश भारत स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। आज से 76 साल पहले 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रेजों की गुलामी से आज़ादी मिली थी। इस दिन हजारों देशभक्तों और क्रांतिकारियों का सपना सच हुआ था।

15 अगस्त 1947 का दिन भारतीय इतिहास का सबसे गौरवशाली व सदा याद रखा जाने वाला दिन है। इस दिन को कभी नहीं भूला जा सकता।

इस दिन स्कूल, कॉलेज और ऑफिसों में कामकाज नहीं होते बल्कि राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाता है। विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, झलकियां प्रस्तुत की जाती है।

देश का प्रत्येक नागरिक चाहे बच्चा हो या जवान या बुजुर्ग हो, जोश से भरा रहता है और तिरंगे को सैल्यूट करता है। देशभक्ति की भावना को लोगों के दिलों पर राज करते देखा जा सकता है।

देश को आजादी दिलाने में हजारों वीरों ने अपनी बलिदानी दी। देश की आजादी के लिए बलिदान देने वालों इन वीरों के नाम इतिहास के पृष्ठों पर सुनहरे अक्षरों में अंकित है। झांसी की रानी लक्ष्मीबाई, मंगल पांडे, भगत सिंह, नाना साहब समेत हजारों वीरों को देश की आजादी के लिए दिए गए योगदान के लिए हमेशा याद किया जाता है और किया जाता रहेगा।

स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने तन और मन में स्वतंत्रता की ज्वाला को तब तक प्रज्वलित रखा, जब तक भारत आजाद नहीं हुआ। अगर ये वीर ना होते तो आज हम इस स्थिति में ना होते।

इन स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों को सम्मान देने तथा देश की उत्तरोत्तर प्रगति की कामना के लिए हम हर वर्ष स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं।

इस राष्ट्रीय पर्व के दिन हम सभी को शपथ लेनी चाहिए कि हम अपने देश के लिए कुछ ना कुछ योगदान जरूर करेंगे, भले ही वो किसी भी क्षेत्र में क्यों ना हो।

स्वतंत्रता के महत्व को समझें। आपसी प्रेम, भाईचारा तथा सौहार्द की भावनाओं को कायम रखें। जिम्मेदार नागरिक होने का फर्ज निभाएं। देश की प्रगति में अपना योगदान दें।

न भूलना कभी इस दिन को, यह देश की पहचान है। स्वतंत्रता दिवस के नाम से प्रसिद्ध यह देश की शान है। अंत में कुछ पंक्तियों के साथ मैं स्वतंत्रता दिवस भाषण को विराम देना चाहूंगा…

देश मेरा यह सबसे न्यारा
कितना सुंदर, कितना प्यारा।

पर्वत ऊँचे-ऊँचे इसके, करते हैं रखवाली।
लंबी-लंबी नदियाँ इसकी, फैलाएँ हरियाली।।

देश मेरा यह सबसे न्यारा
कितना सुंदर, कितना प्यारा।

झर-झर करते निर्मल झरने गीत ख़ुशी के गाएं।
सर-सर करती हवा चले तो पेड़ खड़े लहराएं।।

देश मेरा यह सबसे न्यारा
कितना सुंदर, कितना प्यारा।

बारी-बारी ऋतुएँ आतीं, अपनी छटा दिखलाती।
फल-फूलों से भरे बगीचे, चिड़ियाँ मीठे गीत सुनाती।।

देश मेरा यह सबसे न्यारा
कितना सुंदर, कितना प्यारा।

कितना प्यारा देश हमारा, सबको है यह भाता।
इस धरती का बच्चा-बच्चा, गुण है इसके गाता।।

देश मेरा यह सबसे न्यारा
कितना सुंदर, कितना प्यारा।।

जय हिंद,,, जय भारत।।।

यह भी पढ़ें: स्वतंत्रता दिवस पर शायरी

अगर आपको यह 15 अगस्त के लिए भाषण अच्छा लगा है तो इसे अपने स्कूल/कॉलेज में जरूर सुनायें। साथ ही इसे शेयर अवश्य करें ताकि यह 15 August Speech अनेकों विद्यार्थियों तक तक पहुँच सकें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *