छोड़कर सामग्री पर जाएँ

10 Lines on Makar Sankranti in Hindi

  • द्वारा

मकर संक्रांति पर 10 लाइन: मकर संक्रांति को भारत के प्रमुख त्योहारों में से एक माना जाता है। इस त्योहार को साल की शुरुआत में 14 जनवरी को मनाया जाता है। हमने यहाँ पर आपके लिए 10 Lines on Makar Sankranti in Hindi में उपलब्ध कराई है जिन्हें आप इस पर्व के बारे में जानने के लिए उपयोग कर सकते है।

सूर्य कैलंडर पर आधारित इस पर्व यानि मकर संक्रांति फेस्टिवल पर लिखी गई यह लाइनें (About makar sankranti in hindi) मकर संक्रांति पर Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 & 10 के लिए essays लिखने के लिए भी काम में ले सकते है। साथ ही आपके लिए यहाँ पर मकर संक्रांति पर 5 लाइन, 15 लाइन एवं 20 लाइन भी लिखी गई है जो इस पर्व की पौराणिक कथाओं से लेकर आधुनितक स्वरूप की जानकारी देती है।

About makar sankranti in hindi, About Sankranti in hindi, 10 lines on makar sankranti festival in hindi, 10 lines on makar sankranti in hindi for class 4, मकर संक्रांति पर 10 लाइन.

10 Lines on Makar Sankranti in Hindi

10 Lines on Makar Sankranti in Hindi

  1. मकर संक्रांति भारत के प्रमुख त्योहारों में से एक है।
  2. यह पर्व सूर्य के धनु राशि को छोड़ मकर राशि में जाने पर मनाया जाता है।
  3. मकर संक्रांति का त्योहार हर साल 14 जनवरी को ही आता है।
  4. इसे भारत के साथ-साथ नेपाल में भी मनाया जाता है।
  5. इस पर्व पर तिल एवं गुड़ के बने लड्डू खाने एवं खिलाने की रीति है।
  6. संक्रांति के त्योहार पर लोग पतंगें उड़ाते है एवं इस पर्व का जश्न मनाते है।
  7. भारत के अलग-अलग राज्यों में इस पर्व को अलग-अलग नामों से जाना जाता है।
  8. तमिलनाडु में मकर संक्रांति को ‘पोंगल’ कहते है।
  9. केरल, कर्नाटक एवं आंध्र प्रदेश में इसे सिर्फ ‘संक्रांति’ के नाम से जाना जाता है।
  10. मकर संक्रांति के दिन को दान के लिए बड़ा शुभ दिन माना जाता है।

10 Sentences on Makar Sankranti in Hindi

यहाँ दिए गए इन लाइनों से स्टूडेंट्स 10 lines on makar sankranti for class 4 लिख सकते है। साथ ही इसको अन्य कक्षाओं जैसे class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10 के स्टूडेंट्स भी मकर संक्रांति संबंधित जानकारी लेने एवं essay लिखने के लिए पढ़ सकते है।

  1. हर साल 14 जनवरी को मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है।
  2. मकर संक्रांति के पर्व को ‘पतंग महोत्सव’ के नाम से भी जाना जाता है।
  3. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य के धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करने पर मकर संक्रांति मनाई जाती है।
  4. सूर्य के एक राशि से दूसरी राशि में जाने को संक्रांति कहते है और इस प्रकार 12 संक्रांति होती है लेकिन सबसे ज्यादा प्रसिद्ध एवं महत्वपूर्ण संक्रांति मकर संक्रांति है।
  5. खगोलशास्त्र के मुताबिक सूर्य जब दक्षिणायन से उत्तरायण होते हैं या पृथ्वी का उत्तरी गोलार्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है, उस दिन मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है।
  6. मकर संक्रांति के पर्व पर भगवान सूर्यदेव की पूजा अर्चना की जाती है और आशीर्वाद मांगा जाता है।
  7. उत्तर प्रदेश में मकर संक्रांति को खिचड़ी पर्व कहा जाता है। इस दिन दाल और खिचड़ी खाई जाती है एवं दान दी जाती है।
  8. भारत के हर राज्य में इसे अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है लेकिन सबकी एक ही भावना रहती है।
  9. मकर संक्रांति के पर्व को दान-पुण्य के लिए सर्वश्रेष्ठ माना जाता है और कहा जाता है कि इस दिन किया गया दान 100 गुना होकर वापस आता है।
  10. मकर संक्रांति के पर्व को खुशी, उल्लास एवं उत्साह का पर्व माना जाता है।

मकर संक्रांति पर 10 लाइन हिंदी में

  1. 14 जनवरी को मनाया जाने वाला मकर संक्रांति पर्व भारत के सबसे खास त्योहारों में से एक है।
  2. मकर संक्रांति के पर्व को ‘काइट फेस्टिवल‘ के नाम से भी जाना जाता है।
  3. इस पर्व को सामान्यत: पंजाब में लोहड़ी मनाए जाने के एक दिन बाद मनाया जाता है।
  4. यह पर्व भगवान सूर्यदेव को समर्पित है।
  5. इसे सूर्य के धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करने पर celebrate किया जाता है।
  6. किसान मकर संक्रांति के दिन भगवान सूर्य से अच्छी फसल प्राप्ति होने का आशीर्वाद मांगते है।
  7. भारत के विभिन्न हिस्सों में इस पर्व को अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है।
  8. पतंगबाजी इस त्योहार का एक बड़ा हिस्सा है।
  9. इस दिन हर कोई पतंगबाजी का आनंद लेता है और आसमान रंग-बिरंगी और अलग-अलग डिजाइन की पतंगों से भर रहता है।
  10. मकर संक्रांति का दिन हिंदू धर्म के अनुसार एक बहुत ही पवित्र और शुभ अवसर है इसलिए इसे एक त्योहार के रूप में मनाते हैं।

मकर संक्रांति पर 15 लाइन

  1. मकर संक्रांति अंग्रेजी नववर्ष शुरू होने के बाद सबसे पहले आने वाला प्रमुख त्योहार है।
  2. अधिकांशत: मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाता है लेकिन कई बार इसे 13 जनवरी एवं 15 जनवरी को भी मनाया गया है।
  3. मकर संक्रांति के पर्व को हिन्दू धर्म के साथ अन्य धर्मों के लोग भी मनाते है।
  4. मकर संक्रांति को कई जगह उत्तरायण भी कहा जाता है लेकिन यह महज एक भ्रांति है, सच नहीं।
  5. ऐसा कहा जाता है कि इस दिन भगवान भास्कर अपने पुत्र शनिदेव से मिलने स्वयं उसके घर जाते है।
  6. शनिदेव को मकर राशि का स्वामी माना जाता है तो इस पर्व को भी मकर संक्रांति कहा जाने लगा।
  7. आधुनिक समय में लोग विभिन्न प्रकार की आतिशबाजियों के माध्यम से इस पर्व का celebration करते है।
  8. पतंगबाजी के साथ लोग गरम हवा के गुब्बारे एवं balloon भी उड़ाते है।
  9. बच्चों को यह त्योहार बड़ा पसंद आता है क्योंकि इस दिन बहुत पतंगबाजी होती है।
  10. हम सभी को एक तय समय पर ही पतंगबाजी करनी चाहिए ताकि साँझ (शाम) के पक्षियों को पतंग की डोरों से नुकसान न पहुँचें।
  11. मकर संक्राति पर प्लास्टिक से माँझों (डोरो) का उपयोग पतंग उड़ाने के लिए नहीं करना चाहिए।
  12. यह माँझे न सिर्फ पर्यावरण के लिए बल्कि सेहत के लिए भी हानिकारक माने जाते है।
  13. मकर संक्रांति की शुभकामनाएं देने के लिए लोग सोशल मीडिया का use करते है।
  14. सोशल मीडिया साइट्स पर लोग फोटो बनाकर, मैसेज भेजकर एक-दूसरे को इस पर्व की बधाई देते है।
  15. इस पर्व को हम सभी को एक-दूसरे के साथ मिलजुल कर एवं खुशियां बांटकर मनाना चाहिए।

5 Lines about Makar Sankranti in Hindi

छोटी कक्षाओं के बच्चे about sankranti in hindi 5 lines के माध्यम से अपने लिए छोटा-स निम्बन्ध लिख सकते है या इस त्योहार के बारे में जानकारी पा सकते है।

  1. मकर संक्रांति का त्योहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है।
  2. इस त्योहार को हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है।
  3. मकर संक्रांति के पर्व पर तिल एवं गुड़ के लड्डू बनाए जाते है।
  4. इस पर्व को दान-पुण्य के लिए सबसे अच्छा दिन माना जाता है।
  5. मकर संक्रांति के पर्व पर पतंगबाजी की जाती है।

मकर संक्रांति पर 20 लाइन

  1. मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी को मनाया जाता है।
  2. सामान्यत: भारत के हिन्दू पर्वों की अंग्रेजी तारीख बदलती है लेकिन मकर संक्रांति के पर्व की तारीख फिक्स है।
  3. इसकी वजह हिन्दू कैलंडर चंद्रमा पर आधारित है जबकि मकर संक्रांति ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है जो सूर्य पर आधारित है।
  4. कई बार मकर संक्रांति के पर्व को 15 जनवरी को भी मनाया गया है।
  5. मकर संक्रांति के बाद से दिन लंबे होने लगते हैं और रातें छोटी होने लगती है।
  6. मकर संक्रांति के पर्व पर धार्मिक स्नान का बहुत महत्व है।
  7. लोग सूर्योदय से पहले उठकर गंगाजी, पवित्र स्थानों एवं घाटों पर स्नान करते है।
  8. भारत में पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों में मकर संक्रांति के दिन मेले भरे जाते है।
  9. मकर संक्रांति के पर्व को भारत के अलावा नेपाल, श्रीलंका, कंबोडिया, म्यांमार, लाओस और थाईलैन्ड में भी मनाया जाता है।
  10. नेपाल से कुछ हिस्सों में इस पर्व को ‘माघ संक्रांति’ के नाम से जाना जाता है।
  11. म्यांमार में मकर संक्रांति का त्योहार ‘थिन्ज्ञान’ कहलाता है।
  12. श्रीलंका में इसे ‘उलावर थिरुनाल’ के नाम से जानते है।
  13. थाईलैन्ड में मकर संक्रांति पर्व का नाम ‘सोंग्क्रण’ है।
  14. कंबोडिया में मकर संक्रांति का पर्व ‘मोहा संग्क्रण’ के नाम से जाना जाता है।
  15. लाओस में यह पर्व ‘पी मा लाओ’ के नाम से मनाया जाता है।
  16. मकर संक्रांति के त्योहार मनाने के पीछे कई पौराणिक कथाएं भी है।
  17. एक पौराणिक प्रसंग के अनुसार महाभारत काल में भीष्म पितामह ने अपनी देह त्यागने के लिये मकर संक्रांति के दिन का चयन किया था।
  18. पश्चिम बंगाल में मकर संक्रांति के दिन हुगली नदी पर गंगा सागर मेले का आयोजन किया जाता है।
  19. इस त्योहार के बाद सर्दियाँ कम होने लगती है और गर्मी बढ़ने लगती है।
  20. मकर संक्रांति को धरती की तुलना में सूर्य की स्थिति के हिसाब से मनाया जाता है इसलिए यह सूर्य से जुड़ा त्योहार है।
👇 यहाँ से इस लेख को शेयर करें:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.